रेलयात्रियों के लिए बड़ी खुशखबरी, रेल मंत्री ने किया ये बड़ा ऐलान

नई दिल्ली। अब मह‍िलाओं को ट्रेन में सीट के ल‍िए परेशान नहीं होना पड़ेगा. रेलवे की तरफ से महिलाओं के लिए बड़ी घोषणा की गई है. रेल मंत्री अश्‍व‍िनी वैष्‍णव ने महिलाओं को ध्यान में रखते हुए बड़ा ऐलान किया है. नई घोषणा के अनुसार बस और मेट्रो ट्रेन की तरह भारतीय रेलवे भी महिलाओं के लिए सीट आरक्षित करेगा.

रेलवे की तरफ से अब लंबी दूरी की ट्रेन में महिलाओं के लिए सीट रिजर्व की गई है. इसके अलावा महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्लान भी तैयार क‍िया जा रहा है. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि ट्रेनों में महिलाओं की सहूल‍ियत के ल‍िए भारतीय रेलवे ने रिजर्व बर्थ न‍िर्धार‍ित करने समेत कई सुविधाएं शुरू की हैं.

रेल मंत्री ने कहा कि मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में मह‍िलाओं के ल‍िए स्लीपर क्लास में छह बर्थ आरक्षित रहेंगी. राजधानी एक्‍सप्रेस, गरीब रथ और दूरंतो समेत पूरी तरह से वातानुकूलित एक्सप्रेस ट्रेनों की थर्ड एसी में छह बर्थ महिलाओं के लिए आरक्षित की गई हैं.

ट्रेन के प्रत्‍येक स्लीपर कोच में छह लोअर बर्थ, 3 टियर एसी कोच में चार से पांच लोअर बर्थ और 2 टियर एसी में तीन से चार लोअर बर्थ सीन‍ियर स‍िटीजन, 45 वर्ष या इससे ज्‍यादा उम्र की महिलाओं और गर्भवती महिलाओं के लिए आरक्षित की गई हैं.

अश्‍व‍िनी वैष्‍णव ने कहा क‍ि महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं. रेलवे सुरक्षा बल जीआरपी और जिला पुलिस यात्रियों को सुरक्षा मुहैया कराएगी. इसके अलाावा रेलगाड़ियों और स्टेशनों पर महिलाओं समेत अन्‍य यात्रियों के लिए भी जीआरपी की मदद कदम उठाए जा रहे हैं.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper