खेल

वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन ने #RunForZeroHunger के माध्यम से नंद घर के बच्चों के लिए 50 लाख भोजन जुटाए

वेदांता की सामाजिक इकाई अनिल अग्रवाल फाउंडेशन ने राजस्थान में 25,000 नंद घर स्थापित करने के लिए राजस्थान सरकार के साथ एक MoU भी स्थापित किया है, जिससे 10 लाख बच्चों और 7.5 लाख महिलाओं को लाभ होगा
सामाजिक पूर्ति के लिए आयोजित प्रतिष्ठित वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन का दूसरा संस्करण आज संपन्न हुआ। #RunForZeroHunger के समर्थन में 35,000 से अधिक धावकों ने इस मैराथन में भाग लिया| लोगों की रिकॉर्ड भागीदारी रही। पिछले वर्ष की तुलना में 50 प्रतिशत से अधिक धावाकों  ने हाफ मैराथन, ओपन 10k रन, ग्रेट दिल्ली रन, सीनियर सिटिज़न्स रन और चैंपियंस विद डिसेबिलिटी रन सहित पांच आयोजनों में जोश से भाग लिया | वेदांता मैराथॉन की हर एक किलोमीटर की दौड़ में ज़रूरतमंद बच्चों को एक समय का भोजन उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता ने कुल मिलाकर 50 लाख भोजन इकट्ठा किए हैं। ये भोजन आने वाले हफ्तों में वेदांता के लगभग 6,000 नंद घरों के नेटवर्क में परोसा जाएगा। नंद घर, आधुनिक आंगनवाड़ी केंद्र हैं। ‘नंद घर’ देश के 14 राज्यों में संचालित होने वाला वेदांता समूह के अनिल अग्रवाल फाउंडेशन की एक प्रमुख सामाजिक पहल है।
रविवार के दिन आयोजित इस मैराथन दौड़ को वेदांता की निदेशक और हिंदुस्तान ज़िंक लिमिटेड की चेयरपर्सन सुश्री प्रिया अग्रवाल हेब्बर ने केंद्रीय मंत्री श्री अनुराग ठाकुर, दिल्ली के उपराज्यपाल श्री विनय कुमार सक्सेना और दिल्ली की शिक्षा मंत्री सुश्री आतिशी की उपस्थिति में हरी झंडी दिखाई। इस अवसर पर सुश्री हेब्बर ने कहा, “आज हमने जो देखा, वह जीवन के सभी क्षेत्रों के लोगों को एकजुट होकर, मनोरंजन के साथ फिटनेस, और उससे भी ज़रूरी, एक उद्देश्य के लिए, उनकी सहभागिता दर्शाता है। हमारे चेयरमैन श्री अनिल अग्रवाल का सपना है कि भारत के हर बच्चे को पौष्टिक भोजन से युक्त आहार नियमित रूप से उपलब्ध हो और हर बच्चा भरपूर भोजन मिलने के बाद ही सोये। हम #RunForZeroHunger के माध्यम से हर भारतीय को शामिल करते हुए एक जन आंदोलन बनाना चाहते हैं। इसी उद्देश्य से यह दौड़ आयोजित की गई है। हम चाहते हैं कि इस देश की हर आंगनवाड़ी एक आधुनिक नंद घर बने।”
हाल ही में, वेदांता ने अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के माध्यम से मिलेट-आधारित न्यूट्री-बार लॉन्च किया। इसे नंद घरों सहित आंगनवाड़ियों में बच्चों को पूरक पोषण आहार के रूप में दिया जाता है। नंद घर के नेटवर्क की इस पहल के शुरुआती परिणाम आशाजनक हैं और पोषण संबंधी परिणामों में सुधार का संकेत देते हैं। धावकों के साथ इस अनुभव को साझा करने के लिए, VDHM 2023 में प्रत्येक प्रतिभागी को ये मल्टी-मिलेट बार दिए गए हैं |
दो बार के ओलंपिक पदक विजेता और विश्व चैंपियन एथलीट एश्टन ईटन, VDHM 2023 के ब्रांड एंबेसडर और भारतीय महिला राष्ट्रीय क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर और एक्टर एवम स्पोर्ट्स एंथूसिऐस्ट गुल पनाग ने मैराथन में धावकों को प्रेरित किया। भारतीय सिनेमा की अभिनेत्री भूमि पेडनेकर, अभिनेता आशीष विद्यार्थी, फिटनेस कोच यास्मीन कराचीवाला, पहलवान संग्राम सिंह और साक्षी मलिक, अभिनेत्री पायल रोहतगी, सारा खान, कंगन नांगिया, पंखुड़ी अवस्थी, फैशन डिजाइनर निखिल मेहरा, आर. जे. विदित, मास्टरशेफ फाइनलिस्ट गुरकीरत सिंह सहित कई मशहूर हस्तियों और प्रभावशाली लोगों ने #RunForZeroHunger को अपना समर्थन दिया। वेदांता के इस प्रयास की सराहना करते हुए लोगों से इसमें भाग लेने की अपील की।
किसी भी सफल आयोजन में समर्पित और दक्ष कर्मियों की मेहनत ज़रूरी होती है। वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन में ऐसे ही वेदांता के करीब 30,000 समर्पित कर्मचारियों की सक्रिय भागीदारी देखी गई। कुछ कर्मियों ने दिल्ली में दौड़ लगाई, अन्य ने अपने व्यावसायिक स्थानों पर मिनी मैराथन और मैराथन के दिन तक StepSetGo ऐप के माध्यम से भाग लिया।
वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के धावकों को जीतने पर पदक प्रदान किया गया। यह पदक राजस्थान स्थित, दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी खदानों से प्राप्त शुद्धतम और उच्चतम श्रेणी के ज़िंक से बनाया गया है, जिसका उत्पादन वेदांता समूह की एक इकाई हिंदुस्तान ज़िंक लिमिटेड द्वारा किया जाता है।
वेदांता के बारे मेंः
वेदांता लिमिटेड (“वेदांता“), वेदांता रिसोर्सेज लिमिटेड की सहायक कंपनी, तेल और गैस में महत्वपूर्ण परिचालन के साथ भारत, दक्षिण अफ्रीका, नामीबिया, लाइबेरिया, संयुक्त अरब अमीरात, कोरिया, ताइवान और जापान में फैली दुनिया की अग्रणी प्राकृतिक संसाधन कंपनियों में से एक है। ज़िंक, लेड, चांदी, तांबा, लौह अयस्क, स्टील, निकल, एल्यूमीनियम, पॉवर  और ग्लास सब्सट्रेट और अर्धचालक और डिस्प्ले ग्लास में कंपनी बेहतर काम कर रही है। वेदांता दो दशकों से राष्ट्र निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण पर विशेष ध्यान देने के साथ शासन और सतत विकास वेदांता की रणनीति के मूल में हैं। वेदांता ने प्राकृतिक संसाधन क्षेत्र में ईएसजी लीडर बनने के लिए एक व्यापक रूपरेखा तैयार की है, वह 2050 या उससे पहले कार्बन उत्सर्जन को शून्य तक कम करने के लिए प्रतिबद्ध है। साथ ही इस संकल्प की बढ़ोतरी के लिए अगले 10 वर्षों में 5 बिलियन डॉलर खर्च करने का लक्ष्य रखा है। वेदांता स्थानीय समुदायों के जीवन को भी बेहतर बनाने पर केंद्रित है।
अधिक जानकारी के लिए कृपया www.vedantalimited.com पर क्लिक करें
अनिल अग्रवाल फाउंडेशन के बारे में :
वेदांता लिमिटेड की सामुदायिक और सामाजिक पहल के लिए एक प्रमुख इकाई अनिल अग्रवाल फाउंडेशन है। फाउंडेशन के फोकस क्षेत्र स्वास्थ्य देखभाल, महिला एवं बाल विकास, पशु कल्याण परियोजनाएं और खेल हैं। अनिल अग्रवाल फाउंडेशन का लक्ष्य वंचित समुदायों को सशक्त बनाना, जीवन में बदलाव लाना और सतत एवं समावेशी विकास के माध्यम से राष्ट्र निर्माण को सुविधाजनक बनाना है। फाउंडेशन ने विभिन्न सामाजिक प्रभाव कार्यक्रमों पर अगले पांच वर्षों में 5000 करोड़ रुपये देने का वादा किया है।
नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper