अजय माकन ने कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी का पद छोड़ने की पेशकश की

नई दिल्ली । राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन ने पद पर बने रहने में असमर्थता और अनिच्छा व्यक्त की है। सूत्रों के मुताबिक माकन ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को लिखे अपने पत्र में राजस्थान में 25 सितंबर को हुए घटनाक्रम का हवाला दिया है। सूत्रों के अनुसार अजय माकन ने कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को पिछले दिनों एक पत्र लिखकर कहा है कि वह राजस्थान के प्रभारी पद पर नहीं रहना चाहते है। अपने एक पन्ने के पत्र में माकन ने कहा है कि 25 सितंबर को राजस्थान में कांग्रेस विधायकों को लेकर जो घटनाक्रम हुआ, उसके बाद राजस्थान में नया प्रभारी नियुक्त किया जाना चाहिए।

सूत्रों ने बताया कि अजय माकन ने पत्र में जोर देकर कहा कि दिसंबर के पहले सप्ताह में राजस्थान में आने वाली भारत जोड़ो यात्रा को देखते हुए जल्द से जल्द नए प्रभारी का चयन किया जाना चाहिए। अजय माकन ने आगे दिल्ली में पार्टी को बढ़ाने पर काम करने की इच्क्षा जताई है।

अजय माकन ने पत्र में कहा कि वह पिछली तीन पीढ़ियों से कांग्रेस की विचारधारा से जुड़े हैं। उन्होंने कांग्रेस के साथ अपने पारिवारिक संबंधों का हवाला देते हुए खुद को राहुल गांधी का सिपाही भी बताया है। बता दें कि मल्लिकार्जुन खड़गे के अध्यक्ष बनने के बाद अजय माकन सहित सीडब्ल्यूसी के सदस्यों और महासचिवों ने पिछले दिनों इस्तीफा दे दिया था।

गौरतलब है कि सितंबर में अशोक गहलोत गुट के विधायकों ने अजय माकन पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। मंत्री शांति धारीवाल ने साफ तौर पर कहा था कि राजस्थान में जो भी कुछ हुआ उसमें अजय माकन की बड़ी भूमिका थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper