अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने कहा अदभुत सुन्दर है छत्तीसगढ

रायपुर: संस्कृति विभाग छत्तीसगढ़ के “हमर पहुना” कार्यक्रम में मुंबई से आई अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने छत्तीसगढ़ शासन और भूपेश बघेल के द्वारा चलाई जा रही शिक्षा , गोधन एवं विभिन्न योजनाओं को सराहा, सरकार के द्वारा जल,जंगल, जमीन आदिवासी, महिला एवं बच्चों कि शिक्षा के क्षेत्र में पर्यटन एवं पर्यावरण के क्षेत्र में जो कार्य यहाँ के विकास जिसे सम्पूर्ण भारत एवं विश्व में जाना जा सके ऐसा कार्य जिसकी उन्होंने खुलकर न सिर्फ तारीफ कि बल्कि फिल्म सिटी के लिए श्री गौरव द्विवेदी के द्वारा जो प्रयास निरंतर किये जा रहे है।

उसके लिये उन्हे सराहा इस अवसर पर संस्कृति संचालक विवेक आचार्य ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति कला, नृत्य, खानपान, खादी के वस्त्र सहित, यहाँ के मूर्तिकला, पर्यटन रामवनगमन पथ, नरवा, गरवा, घुरवा और बाडी गौधन न्याय योजना के तहत गोबर और गोमूत्र खरीदी की जानकारी से स्वरा भास्कर को न सिर्फ अवगत कराया बल्कि उनका स्वागत दक्षिण कोशल राम के ननिहाल माता कौशल्या के छत्तीसगढ़ से जुड़ी कई बातें, वन, जल संरक्षण की दिशा में किये जा रहे कार्यो की जानकारी दी।

इस अवसर पर स्व सहायता समूह की महिलाओं की भूमिका के बारे में स्वरा भास्कर ने कहा कि इस प्रकार की गृहणीयों और महिलाओं के कार्य को भारत में आगे बढ़ना चाहिये। छत्तीसगढ़ में अपनी आगमी फिल्म की शूटिंग लोकेशन की संभावनाओं पर भी उन्होंने बल दिया। स्वरा ने बताया की वह एक मध्यम वर्ग परिवार से टेलीविजन और सिनेमा के क्षेत्र में आकर निरंतर आगे बड़ी है। स्वरा भास्कर ने छत्तीसगढ़ व्यंजन चीला, फरा, ठेठरी,खुरमी ,बबरा, पिडीया का भी स्वाद लिया और इसकी तारीफ की। अंत में उन्होंने अपने आने वाली फिल्म “चार यार” में अपनी भूमिका की जानकरी दी और फिल्म का प्रमोशन की लोगों को फिल्म देखने की अपील की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper