असंतुलित भोजन से खराब हो सकती आपकी आंखों की रोशनी

नई दिल्ली: वैसे तो आजकल आंखों में ज्यादातर लोगों को समस्या होती है। लेकिन ये समस्या कब बढ़ी हो जाती है ये पता नही चलता है। आज कल मोबाइल कम्प्यूटर से काम करने वालों को ज्यादा ये समस्या होती है। मगर ये अब तो बच्चों में भी देखने को मिल रही है, वह मोबाइल ज्यादा चलाते है।

इसलिये डाक्टर हमेशा कम फोन यूज करने को बोलते है। मगर आज के समय में सब आनलाइन है जिससे हमको चलाना पड़ता है। मगर अगर हम अपने खानपान का ध्यान रखते है तो ये समस्या कम हो सकती हैं। एक नए अध्ययन में पता चला है कि सही आहार न लेने से बुढ़ापे में दृष्टि क्षमता प्रभावित हो सकती है। शोधकर्ताओं ने कहा रेड मीट, तले हुए खाद्य पदार्थ, उच्च वसा वाले डेयरी उत्पाद, प्रोसेस्ड मीट और रिफाइंड अनाज से भरपूर आहार दिल के लिए खराब है और कैंसर कारक हैं।

हालांकि, बहुत कम लोग यह जानते हैं कि इस तरह का आहार दृष्टि पर भी प्रभाव डाल सकता है। ब्रिटिश जर्नल ऑफ ऑप्थाल्मोलॉजी में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन के मुताबिक, अस्वस्थ खाद्य पदार्थों से भरपूर आहार और मैक्यूलर डिजनेरेशन के बीच संबंध पाया गया है।

शोधकर्ताओं ने 66 तरह के खाद्य पदार्थों के डाटा का इस्तेमाल किया। इनकी दो तरीके के आहार के रूप में पहचान की गई। एक तरीके को उन्होंने स्वास्थ्यप्रद बताया। जबकि, दूसरे को उन्होंने पश्चिमी आहार करार दिया, जिसमें प्रोसेस्ड और रेड मीट, तला हुआ खाना, मिठाई, अंडे, रिफाइंड अनाज, उच्च वसा वाले डेयरी उत्पाद और चीनी से बने पेय पदार्थ का अधिक सेवन शामिल था।

जाने क्या खाये
हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियों में ल्यूटिन और जीएक्सैंथिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो आंखों की रोशनी को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। विटामिन ‘सी’ से भरपूर पत्तेदार साग आपकी आंखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा साबित हो सकता है। पालक, कोलार्ड ग्रीन्स और काले स्वस्थ पत्तेदार हरी सब्जियों के कुछ उदाहरण हैं।

आंवला है सबसे जरूरी

आंवला आंखों के लिए वरदान है। इसमें मौजूद तत्व आंखों की रोशनी को बरकरार रखने में मददगार हो सकते हैं। आप चाहें तो कच्चे आंवले को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा सुबह खाली पेट आंवले का रस पीना या फिर आंवले का मुरब्बा खाना भी फायदेमंद हो सकता है।

मछली हैं फायदेमंद

सैल्मन, ट्राउट, टूना और हेरिंग ऐसी मछलियां हैं, जो आपकी आंखों की रोशनी के लिए अच्छी होती हैं। ऑयली मछली ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होती है जो मैक्युलर डिजनरेशन और ड्राई आई सिंड्रोम से आंखों को सुरक्षा प्रदान करती है। ओमेगा 3 फैटी एसिड आंखों से अंतःस्रावी तरल पदार्थ की निकासी में मदद करता है, जो मोतियाबिंद के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

गाजर है लाभदायक

गाजर का जूस पीना सेहत के लिए तो अच्छा है ही साथ ही आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। रोजाना एक गिलास गाजर का जूस पीने से आंखों पर चढ़ा चश्मा तक उतर सकता है।

जामुन भी असरदार

जामुन का उपयोग कई तरह की बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है। जामुन भी विटामिन सी का अच्छा स्त्रोत माना जाता है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

इलायची आंखों के लिए फायदेमंद

इलायची शरीर के तापमान को संतुलित रखने का काम करती है। इसके नियमित सेवन से आंखों को ठंडक मिलती है और आंखों की रोशनी बढ़ती है। आप चाहें तो इलायची और सौंफ को पीसकर पाउडर तैयार कर सकते हैं। इस पाउडर को ठंडे दूध में मिलाकर पीने से आंखों की रोशनी बढ़ सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper