इस एक चीज के दूर होते ही अकेला हो जाता है इंसान!, सबसे करीबी लोग भी छोड़ देते हैं साथ

नई दिल्‍ली. महान कूटनीतिज्ञ आचार्य चाणक्‍य की नीतियों ने ही नंद वंश का नाश करवा दिया था और चंद्रगुप्त मौर्य को सम्राट का ताज दिलाया था. आचार्य चाणक्‍य की नीतियां इंसान को न केवल सफलता दिलाती हैं, बल्कि ढेरों मुसीबतों से भी बचाती हैं. ये नीतियां व्‍यक्ति को बताती हैं कि उसे अपने जीवन में किन बातों का पालन करना चाहिए और किन चीजों से दूरी बनाना चाहिए. वरना उसके जीवन में बुरा वक्‍त आने में देर नहीं लगती है.

ऐसे वक्‍त में अपने भी छोड़ जाते हैं साथ
चाणक्‍य नीति कहती है कि भले ही पैसे से सारे सुख नहीं खरीदे जा सकते हैं लेकिन यह जीवन के लिए बेहद जरूरी है. यहां तक कि जब व्‍यक्ति के पास पैसा नहीं होता है तो उसके अपने भी उसका साथ छोड़ देते हैं. फिर चाहे वह उसके सगे भाई-बहन हों, पत्‍नी हो या दोस्‍त, नौकर-चाकर हों. जब व्‍यक्ति अमीर बन जाता है तो सारे लोग उससे रिश्‍ते जोड़ने के लिए लालायित हो जाते हैं. इसलिए पैसा होना बहुत जरूरी है.
पढ़ें: इन लोगों के वैवाहिक जीवन में अक्‍सर बनी रहती हैं समस्‍याएं! ये है पार्टनर से न पटने की वजह

…लेकिन धन कमाने में न करें ये गलती
आचार्य चाणक्‍य ने धन का महत्‍व बताने के साथ-साथ इसे कमाने के तरीकों के बारे में भी बताया है. चाणक्‍य नीति कहती है कि गलत तरीके से कमाए गए धन से बेहतर है कि व्‍यक्ति कम पैसे में गुजारा कर ले क्‍योंकि अनैतिक काम करके कमाया गया पैसा व्‍यक्ति के पास ज्‍यादा से ज्‍यादा 10 वर्ष तक ही ठहरता है. ऐसा पैसा कभी न कभी चला ही जाता है. साथ ही गलत काम करके कमाया गया पैसा ढेरों मुसीबतें भी लाता है. यह व्‍यक्ति की छवि भी खराब करता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper