एसआरएमएस मेडिकल कालेज में फिजीशियंस की 40वीं कांफ्रेंस का शुभारम्भ

बरेली ,28 अक्टूबर ।लोगों को स्वस्थ रखने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं का उन तक पहुंचना जितना जरूरी है, उतना ही लोगों का जागरूक होना भी। इसके लिए श्रीराममूर्ति स्मारक कालेज आफ मेडिकल साइंसेज की ओर से तमाम योजनाएं संचालित की जा रही हैं। पैलेस आन व्हील्स और टेलीमेडिसन बस ऐसी ही प्रोजेक्ट है। इसके माध्यम से मरीजों के घर के दरवाजे पर ही उन्हें जागरूक किया जाता है और उनकी जांच भी की जा रही है। 50 रुपये की मामूली राशि में हम मैमोग्राफी कर कैंसर की रोकथाम करने का प्रयास कर रहे हैं। यह बात श्रीराममूर्ति स्मारक ट्रस्ट के संस्थापक और चेयरमैन देव मूर्ति जी ने 40वीं वार्षिक कांफ्रेंस UP APICON में कही। उन्होंने कहा कि एसोसिएशन आफ फिजीशियन आफ इंडिया (API) लोगों को जागरूक करने के लिए जिन योजनाओं के संचालन को बढ़ावा दे रही है, हम उन्हें पिछले दस वर्ष से संचालित कर रहे हैं। हमारा उद्देश्य मरीजों की पल्स को पकड़ना और उन्हें जीवन देना है।
श्रीराममूर्ति स्मारक कालेज आफ मेडिकल साइंसेज में शनिवार को देश के फिजीशियंस की सबसे बड़ी संस्था एसोसिएशन आफ फिजीशियन आफ इंडिया (API) की ओर से यूपी चैप्टर की 40वीं वार्षिक कांफ्रेंस का आरंभ हुआ। शनिवार को उद्घाटन सत्र समेत 10 साइंटिफिक सेशन हुए। श्रीराममूर्ति स्मारक ट्रस्ट के संस्थापक व चेयरमैन देव मूर्ति जी, श्रीराममूर्ति स्मारक कालेज आफ मेडिकल साइंसेज के डायरेक्टर आदित्य मूर्ति जी, विशिष्ठ अतिथि इंडियन कालेज आफ फिजीशियन के डीन डा.ज्योतिर्मय पाल, प्रिंसिपल एयरमार्शल (सेवानिवृत्त) डा.एमएस बुटोला, कांफ्रेंस के साइंटिफिक चेयरमैन डा.केके सावलानी, यूपीएपीआई के इलेक्ट चेयरमैन डा.सेवल चक्रवर्ती, यूपीएपीआई के सेक्रेटरी डा.एससी चौधरी, कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डा.स्मिता गुप्ता, कांफ्रेंस के आर्गनाइजिंग चेयरमैन व आईएमए बरेली के प्रेसिडेंट डा.राजीव गोयल और डा.एमपी रावल ने दीप प्रज्वलन कर उद्घाटन सत्र का आरंभ किया। कांफ्रेंस के दौरान यूपीएपीआई के नवनिर्वाचित डा.सेवल चक्रवर्ती को डा.एससी चौधरी ने चेयरमैन पद की जिम्मेदारी सौंपी। इसके साथ ही वयोवृद्ध चिकित्सक मुरादाबाद क डा.डीपी मनचंदा और डा.एचबी गुप्ता को उनकी सेवा के लिए सम्मानित किया गया। डा.डीपी मनचंदा की अनुपस्थिति में उनका सम्मान डा.संजय ने ग्रहण किया। इस दौरान यूपीएपीआई के पूर्व चेयरमैन डा.संजय टंडन, पूर्व सचिव डा.मीनाक्षी जैन, डा.एके शुक्ला, डा.ऋचा गिरि और डा.एसके गौतम को भी सम्मानित किया गया। उद्घाटन में कांफ्रेंस का सोविनियर रिलीज करने के साथ ही राजेंद्र प्रसाद की बुक मैनुअल आफ चेस्ट एक्सरे का भी विमोचन हुआ। कांफ्रेंस के आर्गनाइजिंग चेयरमैन डा.एमपी रावल ने कांफ्रेंस में आए सभी चिकित्सकों और अतिथियों का स्वागत किया। उन्होंने बरेली शहर के इतिहास की भी जानकारी दी। कहा कि महाभारत के समय इसकी पहचान पांचाली के शहर के रूप में हुई। यह आला हजरत के शहर के रूप में भी जाना गया। आज इसे श्रीराममूर्ति मेडिकल कालेज के शहर के रूप में जाना जाता है। यह मेडिकल कालेज आज शहर की नई पहचान है। यहां पर रीनल ट्रांसप्लांट के साथ ही कोक्लियर ट्रांसप्लांट किए जा रहे हैं। रोबोटिक सर्जरी सेंटर के रूप में यह संस्थान तेजी से काम कर रहा है। यह सब सिर्फ इसके संस्थापक देव मूर्ति जी के दूरदर्शी दृष्टिकोण की वजह से ही संभव हो पाया है।
कांफ्रेंस के साइंटिफिक चेयरमैन डा.केके सावलानी ने सभी मेडिकल कालेजों में लाइब्रेरी की स्थापना पर जोर दिया। कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि सेंट्रल एपीआई के जरिये सभी मेडिकल कालेजों में एसआरएमएस जैसी लाइब्रेरी स्थापित करवाई जाए। जहां इंडियन लिटरेचर की भी किताबें उपलब्ध हों। यूपीएपीआई के सेक्रेटरी डा.एससी चौधरी ने एपीआई की भूमिका को स्पष्ट किया और इसके कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एपीआई जन जागरूकता के जरिये लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक कर रही है। इंडियन कालेज आफ फिजीशियन के डीन डा.ज्योतिर्मय पाल ने बेस्ट क्लीनिकल प्रैक्टिस की बात की और संस्था के मिशन को सभी के सामने रखा। उन्होंने कहा कि जनहित की पालिसी बनवाने के लिए हमें सरकार और समाज में अपना महत्व बढ़ाने पर काम करना पड़ेगा। ग्लोबल फोरम बनाना आज परिस्थितियों को जरूरत है। ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के लिए हर शहर में संस्था को ले जाना भी बड़ी जरूरत है। अंत में कांफ्रेंस की आर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डा.स्मिता गुप्ता ने उपस्थित सभी अतिथियों का आभार जताया और कांफ्रेंस को बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि इससे मेडिकल के विद्यार्थियों के साथ ही चिकित्सकों को भी काफी सीखने को मिल रहा है। उद्घाटन सत्र का संचालन यूजी डीन डा.नीलिमा मेहरोत्रा और जेआर डा.मुग्धा अवस्थी ने किया। इस मौके पर श्रीराम मूर्ति स्मारक मेडिकल साइंसेज की पूर्व निदेशक डा.निर्मल यादव, डा. राकेश मेहरोत्रा, डा.आरपी सिंह, कांफ्रेंस के कोआर्गनाजिंग सेक्रेटरी डा.दीपक दास और डा.नीरज कपूर सहित सभी एचओडी और फैकेल्टी मेंबर उपस्थित रहे। बरेली से अखिलेश चन्द्र सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper