कम उम्र में हो गई शादी,अफसरों को सैल्यूट करते पति को देखा तो बनी IPS,जानिए IPS ऑफिसर अंबिका की कहानी

 


कहते हैं कुछ करने का जुनून हो तो इंसान को कोई भी मुश्किलें नहीं रोक सकती। कठिन संघर्ष और कड़ी मेहनत के बदौलत इंसान अपने सपने हर हाल में पूरे कर दिखाता है। कई ऐसे लोग होते हैं जो काफी गरीब होते हैं लेकिन फिर भी हार नहीं मानते हैं और अपने सपने को पूरा करने के लिए किसी भी मुश्किल से लड़ जाते हैं।

हमारे देश भारत में हर साल लाखों की संख्या में अभ्यर्थी आईएएस की परीक्षा देते हैं। लेकिन इस परीक्षा को पास वही अभ्यार्थी कर पाते हैं जो सकारात्मक रणनीति के साथ-साथ कड़ी मेहनत करते हैं। बिना कड़ी मेहनत की है इस परीक्षा को पास करना नामुमकिन है।

कहते हैं ना कि अगर इंसान चाहे तो आसमान में भी सुराख हो सकता है।इस बात को सच कर दिखाया है आईपीएस अफसर (IPS Officer) एन. अंबिका ने। तमिलनाडु की रहने वाली एन. अंबिका की 14 साल की उम्र में शादी हो गई और 18 साल की उम्र में दो बच्‍चों की मां बन गई।

वैसे तो सब कुछ नॉर्मल ही चल रहा था लेकिन एक ऐसी घटना हुई जिसके बाद सब कुछ बदल गया। अंबिका को तेजतर्रार अफसरों में गिना जाता है। अभी महाराष्ट्र में तैनात हैं।

पुलिस कॉन्‍स्‍टेबल से 14 साल की उम्र में हुई शादी-

तमिलनाडु की रहने वाली एन. अंबिका की 14 साल की उम्र में ही डिंडिकल के एक पुलिस कॉन्स्टेबल से शादी कर दी गई थी। 18 साल की उम्र में वह दो बच्चों की मां बन गई। कम उम्र में शादी होने से अंबिका अपने स्कूल की पढ़ाई भी पूरी नहीं कर पाई। शादी के बाद वह अपनी गृहस्थी में खुश थी और काफी अच्छी चल रही थी। लेकिन एक ऐसी घटना हुई जिसने उसकी जिंदगी बदल दी।

गणतंत्र दिवस परेड से मिली आईपीएस बनने की प्ररेणा-

एन. अंबिका एक इंटरव्यू में अपने आईपीएस बनने की प्ररेणा के बारे में बताते हुए कहा कि, एक बार वो अपने कॉन्स्टेबल पति के साथ गणतंत्र दिवस की पुलिस परेड देखने गई थीं। वहां पर उन्होंने अपने पति को कई ऊंची रैंक के अधिकारियों को सैल्यूट करते देखा। घर आने के बाद जब अंबिका ने इस बारे में अपने पति से पूछा तो उन्होंने बताया कि वो मेरे उच्‍च अधिकारी (आईपीएस) थे। अंबिका को उनके पति ने आईपीएस बनने के तरीके और इस पद पर मिलने वाले सम्मान के बारे में पूरी जानकारी दी

यूपीएससी की पूरी जानकारी लेने के बाद अंबिका ने सिविल सर्विसेज की एंट्रेंस एग्जाम देने का फैसला किया। अपने पति से पूरी जानकारी लेने के बाद अंबिका यूपीएससी की तैयारी करने लगी। तीन बार असफलता मिलने के बाद अंबिका के पति ने कहा कि अब तुम पढ़ना छोड़ दो और घर लौट आओ। लेकिन अमरीका ने हार नहीं मानी और अपने सपने को साकार करने के लिए लगातार कोशिश करती रही।

अंबिका का सपना हुआ पूरा, बनीं आईपीएस अफसर-

एन. अंबिका ने वर्ष 2008 में अपना चौथा प्रयास किया। इस बार उन्‍होंने इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी। उनकी यह मेहनत सफल रही ओर वे यूपीएससी 2008 परीक्षा को क्रैक कर आईपीएस अफसर बन गई। अंबिका को महाराष्ट्र कैडर में पोस्टिंग मिली।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper