कोरोना से मौतों के विवाद पर कमलनाथ ने सरकार को घेरा, लगाए गंभीर आरोप

भोपालः देश में कोरोना से होने वाली मौतों को लेकर फिर विवाद खड़ा हो गया। विश्व स्वास्थ्य संगठन का अनुमान है कि भारत में कोरोना से 40 लाख से ज्यादा मौतें हुई हैं। जबकि सरकारी आंकड़ों में अब तक कोरोना से 5.23 लाख मौतें दर्ज की गई है। कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों को लेकर जारी बहस के बीच प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की भी एंट्री हो गई है। उन्होंने ने भी सरकार पर सच्चाई छिपाने का आरोप लगाया है।

कमलनाथ ने गुरुवार देर रात ट्वीट कर कहा कि मैं शुरू से ही कहता रहा हूँ कि कोरोना से देश में लाखों लोगों की मौत हुई है, जबकि भाजपा सरकार लोगों की जान बचाने व सच्चाई स्वीकारने की बजाय आँकड़े दबाने- छिपाने में ही लगी रही। उन्होंने कहा कि मैंने मध्य प्रदेश को लेकर भी कहा कि यहाँ भी शिवराज सरकार के कुप्रबंधन के कारण मार्च और अप्रैल के महीने में श्मशान और कब्रिस्तानों में 1,27503 लोगों के अंतिम संस्कार हुए, इसमें से अगर 80 फीसदी भी कोरोना से मौतें हुईं हैं तो वो तादाद 1,02,000 होती है। सरकार ने मुझे झूठा बताकर मेरे खिलाफ़ शिकायतें दर्ज करवा दी। जबकि हमने लोगों को इलाज, बेड, ऑक्सीजन, जीवन रक्षक दवाइयों व इजेक्शन के अभाव में तड़प-तड़प कर दम तोड़ते हुए देखा है।

पूर्व सीएम ने कहा कि अब तो डब्ल्यूएचओ भी कह रहा है कि भारत में कोविड से सबसे ज़्यादा मौतें हुई हैं और सरकारी आँकड़े से 10 गुना ज़्यादा मौतें हुई हैं और मौतों का आँकड़ा 47 लाख से भी ज़्यादा है। इसी से समझा जा सकता है कि भाजपा सरकार किस प्रकार झूठ परोसती रही, झूठे आँकड़े परोसती रही। उसकी किसी भी घोषित योजना का लाभ पीड़ित परिवारों को नहीं मिला। अब सच्चाई सामने है। जिन लोगों ने अपनो को खोया है वो भाजपा सरकार को कभी माफ़ नहीं करेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper