‘क्या किसी BJP नेता को CBI, ED की कार्रवाई का सामना करना पड़ा है…?’ जवाब देने पर मिलेगा 1 लाख रुपये का इनाम

मुंबई: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने हाल ही में शिवसेना के सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) को गिरफ्तार कर लिया है। राउत की गिरफ्तारी के बाद देश और राज्य में राजनीतिक उथल पुथल शुरू है। ईडी द्वारा की जा रही कार्रवाई पर कई लोग सवाल उठा रहे हैं। इसी बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की युवा शाखा ने महाराष्ट्र के औरंगाबाद (Aurangabad) में बैनर लगाकर पूछा है कि, क्या केंद्रीय जांच एजेंसियों ने अब तक किसी भाजपा नेता पर इसी तरह की कार्रवाई की है।

राष्ट्रवादी युवा कांग्रेस (NCP) के राज्य सचिव अक्षय पाटिल ने बैनर में यह भी पूछा कि क्या किसी एजेंसी – सीबीआई, ईडी या आयकर विभाग ने भाजपा में जाने के बाद भी किसी नेता के खिलाफ अपनी जांच जारी रखी है।

एनसीपी (NCP) के राज्य सचिव अक्षय पाटिल ने यह बीजेपी विरोधी बैनर शहर के क्रांति चौक पर लगाया है। उन्होंने कहा, ‘भाजपा सरकार इस देश में ऐतिहासिक बहुमत के साथ सत्ता में आई है। कई राज्यों में बीजेपी और उसके सहयोगी दलों की सरकार है। अक्षय पाटिल ने आलोचना की है कि अभी तक उनका पेट भरा नहीं, इसलिए वे लगातार केंद्रीय व्यवस्था का दुरुपयोग कर रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘आज देश में ईडी और अन्य केंद्रीय एजेंसियों के प्रमुख भाजपा के कठपुतली की तरह काम कर रहे हैं। ईडी भाजपा की एक और शाखा बन गई है।’ पाटिल ने ये बैनर शहर के कुछ प्रमुख चौराहों और मुख्य स्थानों पर लगाए हैं।

उन्होंने बैनर में लिखा, “जो कोई भी मुझे दिखाता है कि इन केंद्रीय एजेंसियों ने भाजपा नेता के खिलाफ कार्रवाई की है। मैं उस नागरिक को एक लाख रुपये का इनाम दूंगा। मैं भाजपा कार्यकर्ताओं से अपील करता हूं कि वे इस अवसर का लाभ उठाएं और कम से कम इस तरह की कार्रवाई दिखाने की कोशिश करें।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper