गलत चीजें खाने से हो सकती है नींद खराब, सुस्ती, थकान, सिरदर्द जैसी हो सकती हैं कई समस्याएं

नई दिल्ली: गहरी और पर्याप्त नींद लेना सभी के लिए जरूरी है।सभी को 7-8 घंटे की गहरी नींद लेनी ही चाहिए।अगर कोई पर्याप्त नींद नहीं लेता तो अगले दिन उसे सुस्ती, थकान, सिरदर्द जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं।पोषण विशेषज्ञ और रजिस्ट्रेशन डाइट एक्सपर्ट रीमा पटेल के अनुसार, अगर किसी की ईटिंग हैबिट गलत होती है या वह गलत चीजें खाता है तो उसकी रात की नींद खराब हो सकती है।अब चाहे वह कार्ब्स कम खाना हो या फिर खाना ना खाना।

रीमा पटेल के मुताबिक, अगर किसी की रात की नींद खराब हो रही है तो नीचे बताई हुई चीजों पर जरूर ध्यान दें क्योंकि इन चीजों के कारण नींद खराब हो सकती है।जो लोग कुछ आधुनिक डाइट लेते हैं उन्हें अक्सर कार्बोहाइड्रेट को कम खाने या बंद करने की सलाह दी जाती है।लेकिन अगर ऐसा करते हैं रात की नींद डिस्टर्ब हो जाती है।न्यूट्रिशन एक्सपर्ट रीमा पटेल के मुताबिक, शरीर में मुख्य ऊर्जा का सोर्स कार्बोहाइड्रेट होता है।एक हेल्दी डाइट में ब्राउन पास्ता, क्विनोआ, ब्राउन राइस और होलमील ब्रेड जैसे साबुत अनाज कार्बोहाइड्रेट का सेवन करना चाहिए क्योंकि इनमें अधिक फाइबर और पोषक तत्व होते हैं।यह ब्लड शुगर को स्थिर रखते हैं और शरीर को एनर्जी भी देते हैं।हाई फाइबर वाले खाद्य पदार्थों में सेम और दालें, फल और सब्जियां, और नट और बीज भी शामिल हैं।विशेषज्ञ कहते हैं कि कुछ लोग काफी अधिक मात्रा में कॉफी का सेवन करते हैं जिससे नींद डिस्टर्ब हो जाती है।

कॉफी में काफी मात्रा में कैफीन होता है इससे स्लीपिंग पैटर्न बिगड़ सकता है। आमतौर पर, वयस्कों के लिए एक दिन में लगभग 400 मिलीग्राम कैफीन (4 कप कॉफी) सुरक्षित मानी जाती है।बहुत अधिक कॉफी पीने से थकान और नींद ना आने की समस्या हो सकती है.आज कल के समय में कई लोग वजन कम करने के लिए या अन्य कारणों से आसानी से खाना-खाना छोड़ देते हैं।लेकिन अगर आप ऐसा करते हैं तो यह रात में नींद की परेशानी को बढ़ा सकता है।पोषण विशेषज्ञ रीमा पटेल के मुताबिक, यदि आप अक्सर नाश्ता या दोपहर का भोजन करना छोड़ देते हैं तो इससे ब्लड शुगर कम हो जाता है और एनर्जी में कमी आ सकती है।इसके अलावा अगर आप भूख लगने पर खाना खा रहे हैं तो यह काफी अच्छा हो सकता है।लेकिन याद रखें भोजन में प्रोटीन और फाइबर जरूर होना चाहिए वहीं रक्त शर्करा के स्तर को सही रखने के लिए दही, फल और सब्जियां भी होनी चाहिए।एक्सपर्ट सभी को दिन में कम से कम 8-10 गिलास पानी पीने की सलाह देते हैं।

पोषण विशेषज्ञ रीमा पटेल के मुताबिक, दिन भर के कामों में हमारे शरीर को काफी पानी की जरूरत होती है और अगर पानी नहीं पिएंगे तो शरीर डिहाइड्रेट हो जाएगा।इसलिए दिन भर कोई भी लिक्विड ड्रिंक्स पीते रहें।लेकिन शराब, अधिक कॉफी, मीठी ड्रिंक पीने से बचें।पानी, दूध, नारियल पानी, जूस पी सकते हैं.पोषण एक्सपर्ट का मानना है कि कई लोग लंच में काफी अधिक खाना खा लेते हैं और उसके एक या दो घंटे बाद ही सुस्ती आने लगती है।अगर आप बैलेंस डाइट नहीं लेंगे तो ब्लड शुगर तेजी से बढ़ सकता है।इसलिए हमेशा भोजन की कुल मात्रा को कम करने की कोशिश करें और सफेद, प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट की बजाय साबुत कार्बोहाइड्रेट का विकल्प चुनें।सब्जियां और प्रोटीन भी खाने में शामिल करें। पानी का सेवन आपके शरीर को सही तरीके से काम करने में मदद करता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper