धर्मलाइफस्टाइल

जन्माष्टमी पर कान्हा को 56 भोग नहीं, चढ़ाएं सिर्फ ये 5 प्रसाद, चमक जाएगी किस्मत!

 


वाराणसी: भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं. हर साल भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है. इस बार 6 सितंबर को यह पर्व मनाया जाएगा. इस खास दिन पर भगवान श्रीकृष्ण का आशीर्वाद पाने के लिए यूं तो लोग उन्हें 56 तरह के प्रसाद का भोग लगाते हैं.

लेकिन, बताया जाता है कि इस अवसर पर श्री कृष्ण के सबसे पसंदीदा पांच प्रसाद का भोग लगाकर भी आप उनका आशीर्वाद पा सकते हैं. तो आइये काशी के ज्योतिषाचार्य स्वामी पंडित संजय उपाध्याय से जानते हैं कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर कान्हा को किन पांच चीजों का भोग जरूर लगाना चाहिए.

भगवान श्रीकृष्ण को माखन का भोग जरूर लगाना चाहिए. माखन कान्हा को सबसे प्रिय है. कथाओं के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण गोकुल में भी अपने सखा संग माखन चोरी कर खाया करते थे, इसलिए उन्हें माखनचोर भी कहा जाता है.

भगवान श्रीकृष्ण को पंचामृत भी बेहद प्रिय है. गाय के दूध, दही, शहद देसी घी, गंगा जल और तुलसी को मिलाकर पंचामृत तैयार कर उसका भोग कान्हा के जन्मोत्सव के दिन उन्हें चढ़ाना चाहिए. इससे भगवान श्रीकृष्ण प्रसन्न होते हैं.

भगवान श्रीकृष्ण को जन्माष्टमी के दिन धनिया की पंजीरी बनाकर उसका भोग लगाना चाहिए. इसे देसी घी में तैयार करना चाहिए. इसमें काजू और मेवा भी अवश्य मिलाना चाहिए. ये भी कान्हा को अति प्रिय है.

माखन मिश्री के अलावा भगवान कृष्ण को चावल की खीर का भोग भी लगाना उत्तम माना गया है. इस खीर को शुद्ध गाय के दूध से बनाना चाहिए. जन्माष्टमी के दिन खीर का भोग लगाने से भी भगवान श्रीकृष्ण की कृपा भक्तों पर बरसती है.

इन तमाम चीजों का अलावा कान्हा को खीरा भी भोग में जरूर चढ़ाना चाहिए. मान्यता है कि खीरे भगवान श्रीकृष्ण को बहुत प्रिय है, इसलिए उन्हें प्रसाद में खीरा जरूर चढ़ाना चाहिए. इससे भी भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper