जब इलेक्ट्रिक स्कूटर का कटा पॉल्यूशन चालान, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। भारत सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को जोरदार बढ़ावा दे रही है। इसके लिए सरकार ने फेम-1 और फेम-2 जैसी सब्सिडी योजनाओं को शुरू किया है। इस योजना से लोग रियायती दर पर इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीद सकें। सरकार का मानना है कि इलेक्ट्रिक वाहनों से प्रदूषण के स्तर में कमी लाई जा सके। यही वजह है कि भारत सरकार ने ईवी के लिए प्रदूषण प्रमाण पत्र की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया था। हालांकि,केरल से एक ऐसा मजेदार वाक्या सामने आया है, जिसे देख आनंद महिंद्रा भी ट्वीट करने से खुद को रोक नहीं पाए। आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला

साधारण शब्दों में कहें तो ईवी रखने वाले ग्राहकों को PUC सर्टिफिकेट बनवाने की आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन सरकारी कर्मचारी ही सरकार की योजना पर पलीता लगा रहे हैं।

केरल ट्रैफिक पुलिस द्वारा वैध प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाण पत्र नहीं होने के कारण एक इलेक्ट्रिक स्कूटर मालिक पर जुर्माना लगाया गया था। यातायात पुलिस द्वारा मंगलवार को जारी किए गए ई-चालान की तस्वीरें ऑनलाइन सामने आई हैं। चालान केरल के मलप्पुरम जिले के नीलांचेरी में जारी किया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper