राज्य

‘टीचर ने सबके सामने मारा, बेइज्जती नहीं सह पा रहीं हूँ..’, लिखकर 10वीं की छात्रा ने लगाई फांसी

रांची: झारखंड के धनबाद जिले के तेतुलमारी थाना क्षेत्र के जीरोसीम हनुमानगढ़ी कॉलोनी में सोमवार की सुबह कोलकर्मी स्व. विजय बाउरी की 17 वर्षीय पुत्री उषा कुमारी ने अपने ही क्वार्टर में पंखा के कुंडी में दुपट्टा के सहारे फांसी लगाकर ख़ुदकुशी कर ली। उषा दसवीं कक्षा में पढ़ती थी। पुलिस ने छानबीन के दौरान मौके से एक सुसाइड नोट बरामद किया है।

इस सुसाइड नोट में तेतुलमारी स्थित एक प्राइवेट स्कूल के प्राचार्य व एक शिक्षिका पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का इल्जाम लगाया है। वहीं, स्कूल के प्रिंसिपल आरके सिंह ने जानकारी दी है कि उनपर लगाए गए आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। सुसाइड नोट की लिखावट व मृतका के कॉपी में उसके लिखावट का मिलान किया जाए, तो असलियत सामने आ जाएगी। स्कूल ने कहा कि उषा नियमित स्कूल नहीं आती थी, जिसपर शिक्षिका ने उसे डांटा था। मेडिकल बोर्ड ने पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों के हवाले कर दिया है। पोस्टमार्टम में मौत का कारण हैंगिग बताया जाता है।

मृतका उषा तेतुलमारी थाना प्रभारी के नाम भी एक पत्र छोड़ गयी है। जिसमें लिखा है कि मैं धनबाद सेंट जेवियर्स स्कूल तेतुलमारी में पढ़ती हूं। आज स्कूल में एक शिक्षिका ने मुझे सबके सामने चांटा मारा, पूरे स्कूल के बच्चों के सामने मुझे अपमानित करके स्कूल से बाहर करवा दिया। बेइज्जती को नहीं सह पा रही हूं, जिसके लिए मैं आत्महत्या कर रही हूं। शिक्षिका का नाम सिंधू मैडम है, प्रधानाध्यापक का नाम आरके सिंह है। मेरी आत्महत्या करने कि वजह केवल और केवल सिंधु मैडम है। मेरे मरने के बाद सिंधु मैडम पर कार्रवाई करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper