ट्रेनों में सस्ता हुआ चाय-कॉफी और नाश्ता, सर्विस चार्ज घटाने की तैयारी में रेलवे

नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railway) में यात्रा करनेवाले लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी। जी हाँ, रेल मंत्रालय (Rail Ministry) की तरफ से इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) को एक सर्कुलर जारी किया गया है, जिसमें सभी प्रीमियम ट्रेनों में लगने वाले सर्विस चार्ज को अब हटा दिया है। ऐसे में अब ट्रेन में सफर के दौरान चाय, नाश्ता भी काफी सस्ता हो गया है।

गौरतलब है कि, इससे पहले तक रेलवे की तरफ से ट्रेन से यात्रा के दौरान 50 रुपये सर्विस चार्ज वसूला जाता था। ऐसे में यात्रियों को 20 रुपये की चाय के लिए 70 रुपये भी देने पड़ते थे। हालाँकि रेलवे के इस नए नियम के अनुसार, यात्रियों से पहले से सर्विस चार्ज नहीं वसूला जाएगा। अगर यूजर अपनी टिकट बुकिंग के समय खाने का चुनाव करते हैं, तो आपको 50 रुपये सर्विस चार्ज नहीं देना होगा। मतलब ट्रेन में टिकेट बुकिंग के बाद सफर के दौरान चाय-पानी करना सस्ता हो जाएगा।

लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि लेकिन बीच सफर के दौरान रेल यात्री नाश्ता, दोपहर-रात के खाने का ऑर्डर करते है, तो उनको 50 रुपये अतिरिक्त सर्विस चार्ज देना होगा, जो खाना अथवा नाश्ते की दर से अलग होगा।

कौनसे ट्रेन में कितना सर्विस चार्ज

गौरतलब है कि, राजधानी दूरंतो और शताब्दी जैसी ट्रेनों में एक्जीक्यूटिव AC चेयर कार के यात्रियों को 35 रुपये में चाय मिलेगी। जबकि सेकेंड, थर्ड और चेयर कार के यात्रियों को 20 रुपये में यही चाय मिलेगी। जबकि ब्रेकफॉस्ट, लांच, डिनर और स्नैक्स के लिए 90 रुपये से लेकर 295 रुपये तक का सर्विस चार्ज होगा।

गौरतलब है कि जून 2017 को रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी कर कहा था टिकट बुकिंग कराते समय जिन यात्रियों ने कैटरिंग सुविधा नहीं ली थी, यात्रा के दौरान केवल चाय अथवा कॉफी का आर्डर होने पर भी यात्री से 50 रुपये अतिरिक्त सर्विस चार्ज लिया जाएगा। इसको लेकर 2018 में IRCTC ने दोबारा 50 रुपये सर्विस चार्ज पर रेलवे बोर्ड की राय मांगी थी। तब बोर्ड ने सर्विस चार्ज को यथावत रखने के आदेश जारी किए थे।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper