डार्क चॉकलेट दिलाती है इन बिमारियों से छुटकारा ,जाने इसके नुकसान और फायदे

नई दिल्ली: चॉकलेट का नाम सुनते ही सब के मुंह में पानी आने लगता है और आए भी क्यों न, चॉकलेट बच्चों से लेकर बड़ों तक की पसंद है।

एक समय था जब चॉकलेट की कुछ गिनी-चुनी किस्में ही हुआ करती थीं, लेकिन आज बाजार में तमाम तरह की चॉकलेट मौजूद हैं। उन्हीं में से एक है डार्क चॉकलेट।

डार्क चॉकलेट का सेवन करने से कई तरह की बीमारियों से राहत मिलती है, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं।

आइए जानें।

दिमाग की शक्ति को बढ़ाने का काम करती है डार्क चॉकलेट
अक्सर आपने कई लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि दिमाग तेज करना है तो बादाम खाओ। इसमें हम एक लाइन जोड़ेंगे कि अगर बादाम नहीं पसंद तो डार्क चॉकलेट खाओ।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि डार्क चॉकलेट दिमाग को स्वस्थ रखने में मददगार साबित हो सकती है।

डार्क चॉकलेट में मौजूद फ्लैवनॉल जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जो दिमागी शक्ति को बढ़ाने के साथ-साथ दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करती है।

डायबिटीज के खतरे को कम करने में माहिर है डार्क चॉकलेट
डायबिटीज में मीठा न खाने की राय दी जाती है, लेकिन कैसा हो अगर मधुमेह रोगियों को मीठा खाने की छूट मिल जाए।

जी हां! यह बात सच है, अब जब भी डायबिटीज रोगी को मीठा खाने की क्रेविंग हो, वो डार्क चॉकलेट खा सके हैं। बस मार्केट में मिलने वाली डार्क चॉकलेट के शुगर लेवेल को जांच लें।

दरअसल, डार्क चॉकलेट में मौजूद कोको और फ्लैवनॉल टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है।

दिल की बीमारियों को दूर रखती है डार्क चॉकलेट
दिल को स्वस्थ रखने के लिए कई उपायों को अपनाकर थक चुके हैं तो अब थोड़ी मिठास यानी डार्क चॉकलेट का सहारा लें।

यह न सिर्फ आपके जायके को संतुष्ट करेगा, बल्कि आपके हृदय को भी स्वस्थ रखने में मदद करेगा।

दरअसल, डार्क चॉकलेट में फ्लैवनॉल नामक पोषक तत्व मौजूद होता है, जो हृदय को स्वस्थ रखने में काफी मददगार साबित हो सकता है।

फ्लैवनॉल एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करके दिल की बीमारियों से बचाने का काम करता है।

तनाव से छुटकारा पाने के लिए करें डार्क चॉकलेट का सेवन
व्यस्त जीवनशैली के चलते लगभग हर कोई तनाव की समस्या से ग्रसित है।

इससे निजात पाने के लिए कुछ लोग काउन्सलिंग का सहारा लेते हैं, तो कुछ लोगों को पता ही नहीं चलता कि वो डिप्रेशन का शिकार हो गए हैं।

ऐसे में अगर आप कभी भी तनाव का सामना करें, तो खुद को शांत करने के लिए डार्क चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं।

डार्क चॉकलेट में मौजूद पॉलीफेनॉल डिप्रेशन को कम करने में मददगार साबित हो सकते हैं

डार्क चॉकलेट खाने के नुकसान
इस बात से तो आप जरूर सहमत होंगे कि अगर किसी चीज के फायदे होते हैं तो उसके नुकसान भी जरूर होते हैं। ठीक इसी प्रकार ज्यादा डार्क चॉकलेट खाने के अगर फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। जो इस प्रकार हैं:

1) अनिद्रा की समस्या।

2) सिरदर्द या माइग्रेन।

3) सिर चकराना।

4) डिहाइड्रेशन।

5) असहज महसूस होना।

6) हृदय की गति तेज होना।

फिलहाल, यह आप पर निर्भर होता है कि आपने चाकलेट खानी है या नहीं!

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper