दिल्ली में मास्क लगाना फिर अनिवार्य, जुर्माना भी किया गया तय; कार वालों को राहत

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए सार्वजनिक स्थानों पर एक बार फिर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। यदि आपक इस नियम का उल्लंघन करते हुए पाए गए तो 500 रुपए जुर्माना वसूल किया जाएगा। हालांकि, कार में सफर के दौरान छूट मिलेगी। निजी चार पहिया वाहनों में सफर के दौरान मास्क नहीं पहनने पर भी जुर्माना वसूल नहीं किया जाएगा। यह फैसला सरकार को इसलिए करना पड़ा है, क्योंकि पिछले कुछ दिनों में राजधानी में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। ना सिर्फ कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है, बल्कि मौतें भी अधिक हो रही हैं। अगस्त के पहले 10 दिनों में 40 लोगों की मौत हुई है, जबकि जुलाई के आखिरी 10 दिन में कोरोना वायरस ने 14 लोगों की जान ली थी, यानी महामारी के कारण मौत होने के मामले में करीब तिगुनी वृद्धि हुई है।

कब कितने लोगों की गई जान
दिल्ली में 1 अगस्त को 2, 2 अगस्त को 3, 3 अगस्त को 5, 4 अगस्त को 4, 5 अगस्त को 2, 6 अगस्त को एक, 7 अगस्त को 2, 8 अगस्त को 6, 9 अगस्त को 7 और 10 अगस्त को 8 मौतें दर्ज की गईं। 10 अगस्त को हुई मौतें पिछले 180 दिन में सर्वाधिक हैं। दिल्ली में कोविड के कारण 26,351 लोगों की जान जा चुकी है।

इन्हें अधिक खतरा
राष्ट्रीय राजधानी में पिछले एक हफ्ते में संक्रमण के मामले बढ़े हैं। संक्रमण के कारण होने वाली मौतें भी बढ़ रही हैं। हालांकि विशेषज्ञों और अधिकारियों का कहना है कि संक्रमण के कारण उन्हीं लोगों की जान जा रही है जो पहले से किसी बीमारी से पीड़ित हैं या जिन्हें कैंसर, टीबी या कोई अन्य गंभीर बीमारी है। एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि मौतों के अधिकतर मामलों में मरीज संयोग से कोविड से पीड़ित था, क्योंकि उनका अन्य बीमारियों का इलाज पहले से ही चल रहा था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper