दुनिया के सबसे महंगे देश, जहां सामान खरीदने से पहले सौ बार सोचेंगे आप, यहाँ देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ल्ली। पिछले कुछ सालों में भारत छोड़कर विदेश में बसने का चलन बढ़ा है. ये स्थिति कमोबेश पूरी दुनिया में है. कुछ लोगों को विदेशों में मौजूद सुविधाएं और वहां के नियम कायदे पसंद होते हैं, पर ऐसा करने वालों को ये कहावत नहीं भूलनी चाहिए कि दूर के ढोल सुहावने होते हैं. दरअसल दुनिया के कई देश इतने महंगे हैं कि वहां जाकर रहना और जिंदगी बिताना आसान नहीं होता है. हालांकि, इनमें से कुछ देशों का किराया कम हो या फिर खाना सस्ता हो पर वो किसी और वजह से महंगे हो सकते हैं. तो अगर आप भी किसी और देश में जाकर बसने की सोच रहे हैं तो बताई गई इन देशों की लिस्ट को एक बार जरूर पढ़ें और जानें कि दुनिया में कौन से देश रहने के लिए सबसे महंगे हैं.

यूरोपीय देश स्विट्जरलैंड, जिसकी आबादी करीब 90 लाख है. वह दुनिया के सबसे महंगे देश की सूची में पहले स्थान पर काबिज है.

नॉर्वे हमेशा दुनिया के सबसे महंगे देशों की लिस्ट में काफी ऊपर रहा है यहां का खाना और ट्रांसपोर्ट यूरोप के बाकी देशों की तुलना में काफी ज्यादा है. नॉर्वे में वैट 25% तक लगाया जाता है जो बहुत ज्यादा है. वहीं भोजन पर 15% का टैक्स है जो कि कम है लेकिन फिर भी इसे काफी महंगा माना जाता है.

लक्जमबर्ग पश्चिम यूरोप का एक छोटा सा देश यहां कॉस्ट ऑफ लिविंग पश्चिमी यूरोप के बाकी शहरों की तुलना में ज्यादा महंगी है. लक्जमबर्ग पश्चिम यूरोप का एक छोटा सा देश है. एक्सपैटिस्तान की एक रिपोर्ट के अनुसार, लक्जमबर्ग में कॉस्ट ऑफ लिविंग पश्चिमी यूरोप के 81% शहरों की तुलना में ज्यादा महंगी है. इसके अलावा, ये दुनिया भर के 85% शहरों से भी ज्यादा महंगा है. कुछ लोग अपनी वीकली शॉपिंग के लिए सीमा पार जाते हैं. क्योंकि दूध से लेकर बीफ और बीयर तक सब कुछ फ्रांस में लक्जमबर्ग की तुलना में काफी सस्ता है.

डेनमार्क में रहना और खाना-पीना और ट्रांसपोर्ट सब कुछ हिंदुस्तान के करोड़ों लोगों की पहुंच के बाहर है. यहां की कॉस्ट ऑफ लिविंग भी सबके बस की बात नहीं है.

आइलैंड पर रहने की ख्वाहिश हर किसी की होती है पर ज्यादातर आइलैंड का खर्च इतना अधिक होता है कि यहां पर जाकर घर बसाना हर किसी के लिए आसान नहीं होता है. बरमूडा की तरह बहमास भी एक आइलैंड है. यहां की कॉस्ट ऑफ लिविंग बहुत ज्यादा है. इस आइलैंड पर घर बनाना हर किसी के लिए आसान नहीं है. हालांकि, यहां पर कुछ कम पैसों में घर बनाने का सपना आपके द्वारा चुने गए स्थान पर भी निर्भर करता है.

दुनिया के सबसे महंगे देशों में गिने जाने वाले, सिंगापुर भी घूमने के लिहाज से काफी महंगा है. यह देश सबसे स्वच्छ और सुरक्षित एशियाई देशों में से एक है, जो अपने महंगे ट्रांसपोर्ट, खाने और ठहरने के लिए जाना जाता है.

बरमूडा के समुद्री बीच और इसकी खूबसूरती लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है. इसलिए हर कोई इस आइलैंड पर रहने की ख्वाहिश रखता है. लेकिन यहां रहना ज्यादातर लोगों के लिए एक सपना ही है. बरमूडा उत्तरी अटलांटिक महासागर में एक ब्रिटिश आइलैंड टेरिटरी है. ये रहने के लिए सबसे महंगे देशों में शुमार है. इसकी राजधानी हैमिल्टन भी सबसे महंगे शहरों में से एक है. Numbeo के अनुसार, अमेरिका की तुलना में बरमूडा की कॉस्ट ऑफ लिविंग काफी ज्यादा है.

कुछ वर्षों से आइसलैंड ट्रेवल ब्लॉगर्स और नेचर लवर्स के लिए काफी लोकप्रिय डेस्टिनेशन बन चुका है. यहां की कॉस्ट ऑफ लिविंग घर बनाने के मामले में महंगी नहीं है. पर यहां का खाना और ग्रॉसरी काफी हद तक महंगी है. आइसलैंड को खाने की ज्यादातर चीजें दूसरे देशों से इम्पोर्ट करने के लिए मजबूर होना पड़ता है, जिससे लागत बढ़ जाती है और खाना महंगा हो जाता है.

यात्रियों के घूमने के लिए एक और पसंदीदा डेस्टिनेशन ऑस्ट्रेलिया, वन्य जीवन और सांस्कृतिक विरासत से जुड़ा हुआ है. ये देश फेमस ग्रेट बैरियर रीफ और सिडनी ओपेरा हाउस के लिए भी प्रसिद्ध है. ये भी महंगा देश है.

यूके में लंदन को यात्रा करने के लिए सबसे महंगे शहरों में से एक माना जाता है. राजा और रानियों के देश, यूके में ट्रांसपोर्ट सिस्टम काफी महंगा है. वहीं यहां के होटलों में रुकने और खाने की कीमत काफी महंगी है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper