बंगाल पशु तस्करी मामला: CBI ने अनुब्रत के खातों की जानकारी के लिए बैंक अधिकारियों को किया तलब

कोलकाता: करोड़ों रुपये के पशु तस्करी घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने सोमवार को पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोलपुर और सूरी स्थित पब्लिक सेक्टर बैंकों के चार अधिकारियों को तलब किया। सीबीआई इन बैंक अधिकारियों से तृणमूल कांग्रेस के नेता अनुब्रत मंडल, उनके रिश्तेदारों और करीबी सहयोगियों के खातों को लेकर पूछताछ करेगी। सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय एजेंसी को इन ब्रांच के 17 बैंक खातों में पशु तस्करी घोटाले की आय ट्रांसफर किए जाने का संदेह है। इन बैंक के अधिकारियों को 17 बैंक खातों के विवरण के साथ सोमवार को निजाम पैलेस कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है।

अनुब्रत मंडल, उनकी दिवगंत पत्नी चोबी मंडल, उनकी बेटी सुकन्या मंडल और उनके कुछ करीबी रिश्तेदारों के पास 16.94 करोड़ रुपये की 17 फिक्स्ड डिपॉजिट पहले ही सीबीआई द्वारा जब्त कर ली गई है। सूत्रों ने कहा कि अब तक न तो मंडल और न ही इस संबंध में पूछताछ करने वाले अन्य लोग इन फिक्स्ड डिपॉजिट को लेकर कोई संतोषजनक जवाब दे पाए हैं।

पश्चिम बर्धवान जिले के आसनसोल में विशेष सुधार गृह के अधिकारियों ने सीबीआई की विशेष अदालत से अपील की है कि सुरक्षा आधार पर अगली सुनवाई में तृणमूल कांग्रेस बीरभूम जिलाध्यक्ष की वर्जुअल पेशी की अनुमति दी जाए।

मंडल को जब भी कोर्ट में पेश किया गया तो तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों और विपक्षी दलों के बीच नारेबाजी और जवाबी नारे लगे। सुधार गृह अधिकारियों का मानना है कि इससे शांति भंग होने की संभावना है, इसलिए मंडल को सुनवाई के लिए वर्जुअल पेशी की अनुमति दी जा सकती है।

ूबता दें, जब राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी को कोलकाता के दक्षिणी बाहरी इलाके जोका में एक ईएसआई अस्पताल ले जाया जा रहा था, उस वक्त एक महिला ने उन पर चप्पल फेंक दी थी।

पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (डब्ल्यूबीएसएससी) भर्ती अनियमितता घोटाले के मामले में पिछली सुनवाई में चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी ने वर्चुअल पेशी दर्ज कराई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper