बारिश के चलते रद्द हो गई ट्रेन तो रेलवे ने इकलौते यात्री के लिए किया ऐसा काम, हो रही वाहवाही

नई दिल्ली। महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई राज्यों में बारिश का कहर देखने को मिल रहा है। बीते कई घंटों से लगातार हो रही बारिश के चलते बाढ़ के हालात पैदा हो गए है। भारी बारिश की वजह से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए। भारी बारिश की वजह से तबाही का मंजर भी देखने कों मिल रहा है। इतना ही नहीं लोगों के जीवन पर खासा असर दिखाई दे रहा है। बारिश के चलते ट्रेनों और बस सेवाएं ठप्प हो गई है। जिसकी वजह से लोगों का भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन इस बीच एक घटना सामने आई है जो कि सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है। दरअसल बारिश के कहर के बीच भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने एक यात्री के लिए ऐसा काम किया है। जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोग रेलवे की खूब प्रशंसा कर रहे है।

रेलवे ने बारिश की वजह से रद्द हुई ट्रेन के बाद इकलौते सवारी को कार के माध्यम से गुजरात के वडोदरा पहुंचाया है। दरअसल, आईआईटी मद्रास के छात्र सत्यम को भारतीय रेलवे ने एकता नगर रेलवे स्टेशन से वडोदरा स्टेशन तक कार के जरिए सुविधा दी है। बता दें कि गुजरात में लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से उसकी ट्रेन रद्द करना पड़ गया था।

सत्यम ने खुद बताया है कि उसने एकता नगर से वडोदरा तक की ट्रेन के लिए टिकट बुक करवाया था। लेकिन वहां से उसे आगे चेन्नई तक की यात्रा करनी थी। लेकिन, भारी बारिश के चलते एकता नगर में रेलवे ट्रैक पानी में डूब गया, जिसकी चलते रेलवे को ट्रेन रद्द करनी पड़ी। ट्रेन रद्द होने के बाद रेलवे ने सत्यम के लिए कैब बुक की और उसे घर तक पहुंचाया। सत्यम ने वीडियो जारी कर भारतीय रेलवे का शुक्रिया भी अदा किया। वहीं सत्यम को कैब द्वारा घर तक पहुंचाए जाने पर सोशल मीडिया पर लोग रेलवे की प्रशंसा कर रहे है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper