भारत में बंद होने जा रही ये पॉपुलर गाड़ियां? कंपनी की तरफ से आया बड़ा बयान

नई दिल्ली. मारुति सुजुकी, वोक्सवैगन, स्कोडा, निसान और रेनॉल्ट जैसी कार कंपनियां पहले ही भारत में अपनी डीजल गाड़ियों को बंद कर चुकी हैं। रिपोर्ट के अनुसार अब, होंडा कार्स इंडिया भी जल्द ही अपनी डीजल गाड़ियों को बंद करने की सोच रही है।

एक ऑनलाइन मीडिया पब्लिकेशन से बात करते हुए, होंडा कार्स इंडिया के अध्यक्ष और सीईओ, ताकुया त्सुमुरा ने बताया कि कंपनी डीजल इंजन के बारे में ज्यादा नहीं सोच रही है। ज्यादातर कार कंपनियों ने यूरोपीय मार्केट में अपने डीजल पावरट्रेन को बंद कर दिया है।

मौजूदा समय में, होंडा के इंडियन पोर्टफोलियो में चार मॉडल शामिल हैं जो डीजल पावरट्रेन के साथ आते है। इसमें जैज प्रीमियम हैचबैक, डब्ल्यूआर-वी सबकॉम्पैक्ट एसयूवी, अमेज कॉम्पैक्ट सेडान और सिटी मिड-साइज सेडान शामिल है। अगर रिपोर्ट्स की माने तो कंपनी जैज, डब्ल्यूआरवी और सिटी के डीजल वेरिएंट को बंद कर सकती है। कंपनी अपने बिक्री नेटवर्क को अपग्रेड करने के साथ-साथ अपने एसयूवी मॉडल लाइनअप को आगे बढ़ाने पर काम कर रही है।

इस कंपनी के साथ जुड़ने वाला है अडानी का नाम, डेली अपर सर्किट मार रहा शेयर, 21 दिन में 115% का रिटर्न
इस कान की मशीन को लगाने के बाद का आराम आपको हैरान कर देगा

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper