महाराष्ट्र में ‘दही हांडी’ को एडवेंचर स्पोर्ट का दर्जा, ‘गोविंदा’ को खेल कोटे से नौकरी

मुंबई: महाराष्ट्र की एकनाथ शिंदे सरकार ने जन्माष्टमी से ठीक पहले बड़ी घोषणआ की है। सरकार की इस घोषणा के बाद दही हांडी राज्य में एडवेंचर स्पोर्ट के दर्जे में शामिल हो जाएगा। इसके साथ ही गोविंदा और उनके साथियों को सरकारी नौकरियों में कोटे के आरक्षण समेत कई लाभ मिलेंगे।

दही हांडी को एडवेंचर स्पोर्ट का टैग
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व पर महाराष्ट्र सरकार ने बड़ी घोषणा की है। महाराष्ट्र सरकार ने दही हांडी को साहसिक खेल का टैग देने का ऐलान कर दिया है। गुरुवार को विधानसभा के सदन में सीएम एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि राज्य में इसे साहसिक खेल का दर्जा दिया जाता है।

सरकारी नौकरियों में गोविंदा को छूट
महाराष्ट्र विधानसभा के निचले सदन में शिंदे ने कहा कि दही हांडी उत्सव के प्रतिभागी खेल कोटे के तहत सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन कर सकेंगे। महाराष्ट्र के सीएम ने आगे कहा कि मानव पिरामिड के निर्माण के दौरान किसी भी प्रतिभागी के मारे जाने या घायल होने पर परिवार को मौद्रिक मुआवजा प्रदान किया जाएगा।

खेल कोटे से सरकारी नौकरी
शिंदे ने घोषणा कि कि महाराष्ट्र सरकार ने दही हांडी उत्सव के हिस्से के रूप में मानव टावरों के गठन को एक साहसिक खेल के रूप में मान्यता देने का फैसला किया है। इस मान्यता के साथ, खिलाड़ी खेल कोटा के तहत सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन करने के योग्य हो जाएंगे।

मौत होने पर 10 लाख मुआवजा
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव पिरामिड के निर्माण के दौरान एक प्रतिभागी की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले में राज्य सरकार द्वारा मृतक परिवार को मुआवजे के रूप में 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। अगर कोई खिलाड़ी गंभीर रूप से घायल होता है, तो उसे 7 लाख रुपये मिलेंगे। फ्रैक्चर वाले खिलाड़ी को मुआवजे के रूप में 5 लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा। राज्य सरकार घायल ‘गोविंदों’ के इलाज का खर्च भी वहन करेगी।

महाराष्ट्र में दही हांडी का जश्न
इस बार महाराष्ट्र सरकार ने सभी COVID से संबंधित प्रतिबंधों को हटाने के बाद दही हांडी उत्सव पूरे महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर मनाया जा रहा है। भगवान कृष्ण के जन्म का जश्न मनाने के लिए पूरे महाराष्ट्र में दही हांडी कार्यक्रम पूरे उत्साह के साथ आयोजित किए जाते हैं। प्रतिभागियों को ‘गोविंद’ भी कहा जाता है, जो दही हांडी उत्सव के दौरान हवा में लटकते हुए दही से भरे मिट्टी के बर्तन को तोड़ने के लिए एक मानव पिरामिड बनाते हैं।

शिवसेना का गढ़ में भाजपा का ‘दही हांडी’
इस बार भारतीय जनता पार्टी ने वर्ली के जंबोरी मैदान में ‘दही हांडी’ समारोह आयोजित करने की घोषणा की है। यह इलाका शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे का गढ़ माना जाता है। उनके बेटे आदित्य ठाकरे इस विधानसभा क्षेत्र से विधायक भी हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper