यूपी में 15 लाख लूटकर बद्रीनाथ-केदारनाथ पहुंच गए थे बदमाश, अब हुए अरेस्ट, ढाई लाख की नगदी और महंगे मोबाइल बरामद

मेरठ: मेरठ में मवाना थाना क्षेत्र में मेरठ-पौड़ी हाईवे पर तिगरी गांव के पास 19 मई को हुई 15 लाख की लूट में पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर ढाई लाख की नकदी, कार, बाइक और महंगे मोबाइल और तमंचे-कारतूस बरामद किए। लूट के बाद तीनों बदमाश बद्रीनाथ, केदारनाथ होते हुए काठमांडू पहुंच गए ताकि पुलिस के हाथ नहीं आ सकें। हालांकि सर्विलांस टीम पहले ही मोबाइल ट्रेस के आधार पर इन पर नजर रखे हुए थी और उत्तराखंड चले जाने के बाद इन पर शक गहरा गया था।

मंगलवार को एसपी देहात कमलेश बहादुर ने पुलिस लाइन सभागार में बताया कि इंडिया वन कंपनी के पूर्व कर्मचारी परीक्षितगढ़ के खजूरी निवासी विकास ने 70 हजार की उधारी चुकाने के लिए लूट की योजना बनाई। उसने अपने गांव के ही कोमल उर्फ आदर्श और अंकित कश्यप को मवाना में बैंक से एटीएम तक पूरे इलाके की रेकी कराई। इसके बाद आरोपियों ने 15 लाख रुपये की लूट को अंजाम दिया था और परीक्षितगढ़ क्षेत्र में लूटी हुई रकम का बंटवारा कर लिया।

इसके बाद तीनों उत्तराखंड भाग गए और छह दिन के लिए काठमांडू चले गए। कोमल और अंकित ने छह-छह लाख रुपये लिए, क्योंकि उन्होंने घटना को अंजाम दिया था, जबकि विकास ने तीन लाख रुपये रख लिए। मवाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर मवाना-परीक्षितगढ़ मार्ग स्थित ततीना मोड़ से अंकित कश्यप, कोमल उर्फ आदर्श, विकास निवासी ग्राम खजूरी थाना किला परीक्षितगढ़ को गिरफ्तार किया।

लूट के पैसे से कोमल ने ढाई लाख रुपये की कार खरीदी। कोमल, अंकित ने वन प्लस के दो नए मोबाइल खरीदे और कुछ रकम घर में खर्च कर बाकी घूमने में उड़ा दी। तीनों ही आरोपियों ने बद्रीनाथ, केदारनाथ और काठमांडू की भी यात्रा की। कई संदिग्ध लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस टीम ने ट्रेस किए थे। पुलिस का शक इन पर तब गहरा गया, जब ये लोग दूसरे राज्य में चले गए।

बदमाशों ने वारदात के बाद अपनी शर्ट बदल ली, लेकिन जींस और जूते नहीं बदले। सीसीटीवी कैमरों में कैद हुए बदमाशों तक पुलिस पहुंच गई। गिरफ्तार किए गए तीनों ही आरोपियों के पास से पुलिस ने 50 हजार रुपये के दो मोबाइल, ढाई लाख की कार और 2.50 लाख नकद बरामद किए हैं। 10 लाख रुपये में काफी पैसा ये तीनों खर्च कर चुके हैं।

गंगानगर के ईशापुरम निवासी नंदन सिंह मेहता के पास इंडिया वन के आठ एटीएम में रुपये का डालने का काम है। 19 मई को वह इंडिया वन एटीएम में 15 लाख रुपये डालने के लिए बाइक से इंडिया वन के एटीएम मवाना आया, जिसे चेक करके बहसूमा इंडिया वन के एटीएम पर गया। वहां से फलावदा जा रहा था तभी मेरठ-पौड़ी हाईवे पर ग्राम तिगरी के पास बने फ्लाईओवर के नीचे बाइक सवार दो युवक तमंचा दिखाकर रुपये से भरा बैग लूट कर ले गए थे।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper