रेलवे जल्द देगा यात्रियों को फिर से यह सुविधा, अब सफर होगा आरामदायक

नई दिल्ली. गरीब रथ ट्रेन की तरह अब एसी-3 इकॉनमी कोच में भी सफर के दौरान कंबल व चादर यात्रियों को मिलेगा। रेलवे जल्द ही यह सुविधा शुरू करेगा। अभी तक इस तरह के कोच में यात्रियों को अन्य एसी कोच की तरह सुविधा उपलब्ध नहीं थी। लिहाजा उन्हें अपने घर से चादर ले जाने की मजबूरी थी।

रेलवे अधिकारी के अनुसार 20 सितंबर से इस सुविधा को शुरू करने की योजना है। इस कोच में सफर करने वाले यात्रियों को भी अन्य वातानुकूलित कोच की तरह ही बेड रोल दिया जाएगा। हालांकि अभी यह तय नहीं किया गया है कि यह सुविधा यात्रियों को मुफ्त मिलेगी या गरीब रथ ट्रेन की तरह इसके लिए पैसा वसूला जाएगा। इस बारे में जल्द निर्णय ले लिया जाएगा।

कोविड काल को छोड़कर अन्य समान्य दिनों में ट्रेन के वातानुकूलित कोच में कंबल, तकिया व चादर यात्रियों को उपलब्ध कराई जाती रही है। गरीब रथ ट्रेन में इस सुविधा के लिए 25 रुपये का शुल्क यात्रियों को सफर के दौरान देना होता था। दरअसल इस ट्रेन का यात्रा किराया अन्य ट्रेनों से कम है इसे ही देखते हुए मुफ्त कंबल की सुविधा नहीं है।

इसी तरह एसी थ्री इकॉन्मी क्लास में सफर अन्य एसी-3 कोच वाली ट्रेन के मुकाबले सफर करना सस्ता है। इसी वजह से शुरुआती दौर में कंबल व चादर नहीं दिए जा रहे थे। लेकिन यात्रियों की मांग पर अब रेलवे इस फैसले को वापस लेकर यात्रियों को सुविधा देने जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper