वंदे भारत और Train 18 ने शताब्दी एक्सप्रेस का स्पीड का रिकार्ड तोड़ा

नई दिल्ली: भारत में सबसे तेज स्पीड से दौड़ने वाली ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस और Train 18 बन चुकी है। राजस्थान में हुए ट्रायल में ट्रेन ने शताब्दी एक्सप्रेस की स्पीड को भी पार कर दिया। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्रेन के ट्रायल का वीडियो शेयर करते हुए कहा कि अगर भारतीय रेलवे इस ट्रेन (Train 18) को मानक के अनुरूप ट्रैक व सिग्नल परमिट दे तो यह 200 किलोमीटर की स्पीड को भी टच करने में सक्षम है। शताब्दी एक्सप्रेस से अधिक स्पीड में दौड़ने में सक्षम वंदे भारत एक्सप्रेस भी 16 कोचों और उसके समान पैसेंजर्स का लोड सह सकती है।

रेल मंत्री ने किया है वीडियो शेयर

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्रेन के ट्रायल का वीडियो अपने ट्वीटर हैंडल पर शेयर किया है। रेल मंत्री ने बताया कि भारत की यह ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस व ट्रेन 18 ने टेस्टिंग के दौरान 180 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से अधिक पर गंतव्य तक पहुंचने में सफलता दिखाई है। वंदेभारत-2 का स्पीड कोटा-नागदा के बीच 120/130/150 और 180 किमी प्रति घंटे पर शुरू हुआ। अश्विनी वैष्णव ने कहा कि वंदे भारत ट्रेन, देश की सबसे अधिक स्पीड वाली ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस को रिप्लेस करने में सक्षम है।

बेहद अत्याधुनिक डिजाइन की वजह से स्पीड और कंट्रोल बेहतर

वंदे भारत ट्रेन शताब्दी एक्सप्रेस की क्षमता से कहीं कम नहीं है। यह शताब्दी की तरह 16 कोचों और उतने ही पैसेंजर्स को लेकर जाने की क्षमता रखता है। सुरक्षा की दृष्टि से यह अत्याधुनिक तरीके से डिजाइन किया गया है। चलने वाली रूट पर पर किसी प्रकार की मोड़ के दौरान संतुलन कायम रहे और स्पीड में भी कोई कमी न आए इसलिए इसके दोनों सिरे पर एयरोडॉयनेमिकली डिजाइन ड्राइवर केबिन है। इसमें रिजनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम है जिसकी वजह से उर्जा की खपत कम होगी। ट्रेन पूरी तरह से एयर कंडिशन्ड है।

ट्रॉयल का पहला टेस्ट सफल

इस ट्रेन का पहला ट्रायल रन पूरा हो चुका है। पहले टेस्ट रन में कोटा-नागदा सेक्शन पर 110 किलोमीटर इसको दौड़ाया गया है। अब दूसरा ट्रायल रन कोटा और नागदा रेलवे स्टेशन के बीच होगा। यह टेस्ट रन दुगुनी दूरी का होगा। 225 किलोमीटर इस ट्रेन को 180 किलोमीटर की तेज स्पीड से चलाई जाएगी।

कई लेवल पर जांच के बाद मिलेगी अनुमति

दरअसल, रेलवे किसी भी ट्रेन को किसी भी ट्रैक पर चलाने के लिए कई लेवल पर टेस्ट करता है। कोटा और नागदा के बीच वंदे भारत व ट्रेन 18 का टेस्ट रन सफल होने के बाद रिपोर्ट सेफ्टी कमिश्नर को भेजा जाना है। सेफ्टी कमिश्नर की रिपोर्ट और अप्रूवल के बाद वंदे भारत एक्सप्रेस तय रूट्स पर 180 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ने लगेगी।

अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलेगी नई ट्रेन

रेलवे सूत्रों के अनुसार तेज स्पीड वाली भारत की यह ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलाई जाएगी। हालांकि, अभी इसका ऐलान नहीं हुआ है। देश में मेड इन इंडिया यह ट्रेन पहले से दो रूट्स पर चलते हैं। दो वंदे भारत ट्रेनें जो चालू हैं, वह नई दिल्ली-वाराणसी और नई दिल्ली-वैष्णोदेवी कटरा के बीच में हैं। लेकिन अभी चल रही यह ट्रेनें 160 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से ही चल रहे हैं। हालांकि, आजादी के अमृत महोत्सव मना रहे देश में रेलवे ने 75 वंदे भारत ट्रेन चलाने का ऐलान कर चुकी है। वंदे भारत ट्रेन अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। यह ऑटोमेटिक फायर सेंसर, सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस से लैस हैं। यही नहीं यह ट्रेन कवच तकनीक से संचालित है जिससे अगर एक ही ट्रैक पर दो ट्रेन आ गए तो ऑटोमेटिक ब्रेक लग जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper