हिमाचल प्रदेश में आप के लिए कोई जगह नहीं है – जयराम ठाकुर

नई दिल्ली । हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आम आदमी पार्टी और उसके मुखिया अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि आक्रामक शब्दों और ऊंची आवाज में असंसदीय आरोप लगाने की ‘आप’ की राजनीति को हिमाचल की जनता स्वीकार नहीं करेगी। उन्होंने हिमाचल प्रदेश को दिल्ली और पंजाब के राजनीतिक माहौल से अलग बताते हुए कहा कि हिमाचल पहुंचते-पहुंचते सांस फूल जाती है और यही आप के साथ होगा। उन्होंने कहा कि यह विचार आधारित नहीं परिस्थितिजन्य पार्टी है।

उन्होंने जोर देकर कहा कि हिमाचल प्रदेश में तीसरी पार्टी आप के लिए कोई जगह नहीं है और इस बार तमाम रिवाजों एवं मिथकों को तोड़ते हुए भाजपा राज्य में दोबारा सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि आज हालत यह है कि पंजाब के अधिकारियों की बैठक दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ले रहे हैं और दिल्ली एवं पंजाब से नेताओं को आयात कर हिमाचल प्रदेश ले जा रहे हैं।

नई दिल्ली स्थित हिमाचल भवन में मीडिया सेंटर का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए जयराम ठाकुर ने भाजपा शासित राज्यों में समान नागरिक संहिता के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि, यह निर्णय अच्छा है, इससे अच्छी दिशा में एक संदेश गया है। हिमाचल प्रदेश में भी समान नागरिक संहिता लागू करने को लेकर प्रदेश सरकार विचार कर रही है। हमने अधिकारियों को इसे एक्जामिन करने को कहा है कि हिमाचल प्रदेश के संदर्भ में किस तरह का कानून ला सकते हैं। हम जल्दबाजी में कोई कदम नहीं उठाना चाहते क्योंकि हम बेहतर तरीके से इसे राज्य में लाना चाहते हैं।

ठाकुर ने राज्य के विकास के लिए चलाई जा रही कई योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि रूटीन का विकास कार्य तो सभी सरकारों ने किया है लेकिन उनकी सरकार ने सामाजिक क्षेत्र में गरीबों के लिए उल्लेखनीय कार्य किया है और उन्हें उम्मीद है कि सरकार की योजनाओं के लाभार्थी चुनाव में भाजपा का साथ देंगे।

उन्होंने दावा किया कि उनकी सरकार ने हिमाचल प्रदेश की संस्कृति के अनुरूप काम किया। उनकी सरकार ने बदले की भावना से एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज करने और कार्रवाई करने की गलत परंपरा को समाप्त कर प्रदेश के चहुमुखी विकास के लिए काम किया है।

चुनावी वर्ष में मुकाबले के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में हमेशा से दो राजनीतिक दल (भाजपा और कांग्रेस) ही रहे हैं और यहां तीसरे दल की कोई जगह नहीं है। प्रशांत किशोर के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशांत किशोर कांग्रेस को सलाह दे रहे हैं, लेकिन सच्चाई तो यही है कि आज राज्य में किसी के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को विधानसभा चुनाव में टिकट मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पार्टी नेतृत्व तय करेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper