10 साल से सादा पास्ता खाकर जिंदा है ये लड़की, चौकाने वाली है वजह

दुनियाभर में कई लोग हैं जिनके खाने-पीने के मामले में अपनी-अपनी चॉइस होती है। जी हाँ, दुनियाभर में किसी को सादा, तो किसी को मसालेदार खाना पसंद होता है। हालाँकि अगर हम आपसे यह कहें कि एक लड़की पिछले 10 साल से केवल क्रोइसैन और सादा पास्ता खाकर जिंदा है, तो आप मानेंगे नहीं इतना हमें यकीन है लेकिन यह सच है। जी दरअसल इंग्लैंड की 13 साल की सियारा फ्रैंको खाने की दूसरी चीजों के बारे में सोचकर ही घबरा जाती है। अब हम आपको बताते हैं पास्ता और क्रोइसैन को छोड़कर बाकी चीजों के लेकर फ्रैंको के मन में इतना डर क्यों बैठ गया है।

65 साल की उम्र में महिला ने दिया कुत्ते के बच्चे को जन्म, वीडियो वायरल

जी दरअसल इंग्लैंड के केंट की रहने वाली फ्रैंको पिछले 10 साल से एक ही डाइट पर जिंदा है। फ्रैंको की खाने की अजीबोगरीब आदत तब शुरू हुई, जब वह काफी छोटी थी। जी हाँ और फ्रैंको का कहना है कि एक बार खाना उसके गले में अटक गया था और इसकी वजह से उसका दम घुटने लगा। इस दौरान उसको लगा कि अगर वो हार्ड फूड खाएगी, तो उसे बार-बार इसी परेशानी से गुजरना होगा। जी हाँ और देखते ही देखते ये बात उसके दिमाग में इतना घर कर गई कि इस घटना के बाद उसने पास्ता और क्रोइसैन के अलावा और किसी दूसरे फूड को हाथ तक नहीं लगाया।

सिंगरौली का अनोखा स्कूल, यहाँ दोनों हाथ से लिखते हैं बच्चे

अब फ्रैंको की मां एंजेला ने ने इस बारे में बातचीत करते हुए कहा, ‘लगभग तीन साल की उम्र से वह एक ही डाइट ले रही है। वह दोपहर को क्रोइसैन और रात के खाने में सादा पास्ता लेती है।’ इसी के साथ उनकी मां का कहना है, ‘मुझे याद है जब वह बच्ची थी तब वह कभी-कभी सादे अनाज जैसे कॉर्नफ्लेक्स, नमकीन वगैरह खाती थी। मैंने उसे खाने की दूसरी चीजें खिलाने की हर संभव कोशिश की, लेकिन वह नहीं खाती थी।’

हालाँकि अंत में महिला ने थक हारकर डेविड किल्मरी नाम के एक हिप्नोथेरेपिस्ट से संपर्क किया। हिप्नोथेरेपी के कुछ सेशन के बाद फ्रैंको की खाने की आदतों में थोड़ा बदलाव आया, हालाँकि पूरी तरह से वह अभी भी क्रोइसैन और पास्ता पर ही निर्भर है। वहीं दूसरी तरफ मां एंजेला को इस बात की खुशी है कि उनकी बेटी ने अब अनानास, खट्टा चिकन और भुने हुए आलू को भी ट्राय करना शुरू कर दिया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper