Pension Scheme: वृद्धावस्था, विधवा-दिव्यांग पेंशन की राशि में बढ़ोतरी, अब मिलेंगे 4500 रुपये

Pension Amount Hike: वृद्धावस्था, विधवा एवं दिव्यांग पेंशन के लाभार्थियों के लिए आखिरकार सरकार ने लंबे समय बाद एक बड़ा ऐलान कर दिया है. जिससे लाखों पेंशनरों को बड़ी खुशखबरी मिलेगी. आखिरकार सरकार ने लंबे समय से लंबित वृद्धा पेंशन में इजाफे की मांग को लागू कर दिया है. अप्रैल के पहले सप्ताह में पेंशन की रकम को 200 रुपये से बढ़ाकर 14 सौ रुपये कर दिया गया था. अब सरकार ने इसमें फिर 100 का इजाफा करते हुए से 15 सौ रुपए कर दिया है.

हिंदुस्तान में छपी खबर के अनुसार, सरकार की तरफ से इसके लिए निर्देश भी जारी कर दिया गया है. शासन से मिले निर्देश में समाज कल्याण विभाग ने 7.23 लाख पेंशनर्स को 1 अप्रैल से उनके खाते में पहली तिमाही की 4500 रुपये की रकम जारी करने तैयारी शुरू कर दी है. गौरतलब है कि उत्तराखंड में 2014 में अंतिम बार पेंशन की रकम बढ़ाई गई थी. तब वृद्धावस्था, दिव्यांग और विधवा पेंशन की रकम हर महीने 1200 रुपये की गई थी.

अब फिर इस साल यानी 2022 के मार्च में पेंशनर्स को मिलने वाली रकम में बढ़ोतरी की गई थी. सीएम पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने तीनों श्रेणियों की पेंशन 1200 से बढ़ाकर 1400 करने की घोषणा की. फिर एक बार सीएम ने पेंशन की रकम में बढ़ोतरी की है.

प्रमुख सचिव एल फैनई ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि दिव्यांग, बुजुर्ग और विधवा महिलाओं की पेंशन को बढ़ाकर 1500 रुपये प्रतिमाह कर दिया गया है. अब हर तीन माहिने में लाभार्थियों के खाते में समाज कल्याण विभाग द्वारा 4500 रुपये की पेंशन भेजी जाएगी. पहले पेंशनधारकों के खाते में 1400 रुपये मासिक के हिसाब से 3 महीने की 4200 रुपये पेंशन भेजी जा रही थी.

यानी इस बार वृद्धावस्था, विधवा और दिव्यांग पेंशनधारकों की पेंशन की राशि में 100 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, जिससे उनकी पेंशन 1400 रुपये से बढ़ कर अब 1500 हो गई है. अब बुजुर्ग, दिव्यांग और वृद्धावस्था पेंशन के लाभार्थियों को प्रत्येक तिमाही 4500 रुपये की पेंशन राशि भेजी जाएगी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper