अगर हथेली में है ये निशान तो व्यक्ति होता है बेहद भाग्यशाली, जानें ये भी बातें

नई दिल्ली. हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, हथेली पर मौजूद रेखाओं व चिह्नों के माध्यम से व्यक्ति का भविष्य पढ़ सकते हैं. प्रत्येक रेखा हमारे जीवन में होने वाली घटनाओं का संकेत देती है. रेखाओं के अलावा हथेली पर कुछ ऐसे निशान भी होते हैं, जो व्यक्ति के जीवन से जुड़े कई राज खोलते हैं. हस्तरेखा शास्त्र में इन निशानों के बारे में विस्तार से बताया गया है. ऐसा ही एक निशान होता है Y. पंडित इंद्रमणि घनस्याल बताते हैं कि हथेली पर Y का निशान व्यक्ति के भाग्य व सुख-दुख को दर्शाता है. चलिए जानते हैं हथेली पर Y के निशान वाले व्यक्ति किस तरह की जिंदगी जीते हैं.

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, अगर किसी व्यक्ति की हथेली पर Y का निशान सही स्थान पर है तो ये बेहद ही शुभ होता है. ऐसे व्यक्ति बहुत ही भाग्यशाली होते हैं परंतु Y का निशान अगर अशुभ दिशा में हो तो इसका परिणाम विपरीत होता है. आइये जानते हैं हथेली पर Y के निशान की शुभ व अशुभ स्थिति के बारे में.

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, अगर किसी व्यक्ति की हथेली में Y का निशान मणिबंध व जीवनरेखा के मध्य स्थित है तो यह बेहद शुभ होता है. ऐसे लोग आराम की जिंदगी जीते हैं. इसी तरह अगर Y का निशान जीवन रेखा व चंद्र पर्वत के समीप हो तो यह भी शुभ होता है. ऐसे लोगों का भाग्य हमेशा साथ देता और इनको जीवन में सफलता प्राप्त होती है. ऐसे लोग मस्तमौजी और आनंदमयी जीवन जीना पसंद करते हैं.

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, जब जीवन रेखा पर कोई छोटी रेखा कटा हुआ Y का निशान बनाती है तो ये अशुभ स्थिति होती है. ऐसे लोगों को बीमारियां घेर लेती हैं और काफी परेशान रहते हैं. वहीं अगर जीवन रेखा पर कोई छोटी लाइन उल्टा Y का निशान बनाती है तो यह भी अशुभ माना जाता है.

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper