अच्छा करार होने पर ही इजराइल के साथ एफटीए करेगा भारत : गोयल

सैन फ्रांसिस्को: वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि भारत और इजराइल के बीच प्रस्तावित व्यापार समझौता दोनों ही देशों के लिए लाभदायक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत यह समझौता तब तक नहीं करेगा जब तक यह उसके अनुकूल न हो। भारत और इजराइल के बीच मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) पर मई, 2010 से ही बात चल रही है।

यहां भारतीय समुदाय के साथ बातचीत करते हुए मंत्री ने कहा, इजराइल के साथ हम एफटीए तभी करेंगे जब यह समझौता अच्छा होगा और पारस्परिक रूप से लाभदायक होगा। भारत और इजराइल के बीच 2021-22 में वस्तुओं का द्विपक्षीय व्यापार करीब आठ अरब डॉलर रहा। 2020-21 में यह 4.7 अरब डॉलर था। भारत से निर्यात की जाने वाली वस्तुओं में महंगे रत्न एवं धातु, रासायनिक उत्पाद और कपड़ा, कपड़े से बना सामान शामिल है। आयात की जाने वाली वस्तुए हैं महंगे रत्न एवं धातु, रसायन एवं खनिज उत्पाद, मूल धातु और मशीनरी तथा परिवहन उपकरण।

मंत्री ने बताया कि व्यापार समझौते को लेकर कई देशों के साथ बात चल रही है। भारत ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और ऑस्ट्रेलिया के साथ हाल में व्यापार समझौते किए हैं। गोयल ने कहा कि भारत में सेमीकंडक्टर विनिर्माण इकाइयां लगाने के लिए कंपनियों को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस बारे में कई कंपनियों से बात चल रही है और कई ने भारत में निवेश की इच्छा जताई है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper