अनोखा गांव: जहां पैदा होती हैं सिर्फ लड़कियां, गांव के इस रहस्य के बारे में जानकर वैज्ञानिक भी हैरान

दुनिया में एक ऐसा गांव है जहां 12 साल से सिर्फ लड़कियां पैदा हो रही हैं यानी इन सालों में यहां किसी लड़के का जन्म नहीं हुआ है। यह जानकर अजीब लग रहा होगा, लेकिन यह बिल्कुल सच है। गांव के इस रहस्य के बारे में जानकर वैज्ञानिक भी हैरान हैं। पोलैंड और चेक रिपब्लिक की सीमा पर एक ऐसा अनोखा गांव बसा है, जहां सिर्फ लड़कियां ही पैदा होती हैं।

पोलैंड और चेक रिपब्लिक की सीमा पर बसे इस गांव का नाम है मिजेस्के ओद्रजेनस्की। यहां आखिरी बार साल 2010 में एक लड़के का जन्म हुआ था, लेकिन उसके बाद लड़का और उसके परिवार वाले गांव छोड़कर दूसरी जगह चले गए। यहां की आबादी फिलहाल 300 के करीब है, जिसमें लड़कियों और महिलाओं की संख्या ज्यादा है और लड़के न के बराबर है। यहां के मेयर ने साल 2019 में एक एलान किया था जो बेहद हैरान करने वाला है। मेयर ने घोषणा की थी कि अगर गांव में किसी के घर बेटे का जन्म होता है, तो उस परिवार को वह इनाम देंगे।

वैज्ञानिकों को जब इस गांव के बारे में जानकारी हुई, तो उन्होंने इस रहस्य को जानने के लिए रिसर्च किया। लेकिन बहुत शोध करने के बाद भी उनको कोई सफलता नहीं मिल पाई। वैज्ञानिक यह नहीं पता लगा पाए कि आखिर इस गांव में कोई लड़का क्यों नहीं पैदा हुआ। वैज्ञानिक ही नहीं पत्रकार और टीवी में काम करने वाले लोगों ने इस गांव पर शोध किया है। लेकिन अभी तक इस गांव का रहस्य एक पहेली बना हुआ है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper