अब इस कंपनी में हर 3 महीने प्रमोशन और बढ़ेगी सैलरी

नई दिल्ली: आईटी सेक्टर (IT Sector) इन दिनों कर्मचारियों के नौकरी छोड़कर (Attrition Rate) जाने की समस्या से परेशान है. छोटी आईटी कंपनियां ही नहीं बल्कि टीसीएस (TCS), इंफोसिस (Infosys) और विप्रो (Wipro) जैसी दिग्गज आईटी कंपनियां भी इस समस्या से परेशान हैं. इससे निजात पाने के लिए विप्रो ने एक अनोखी योजना तैयार की है. कर्मचारियों को जोड़े रखने के लिए विप्रो ने हर तिमाही यानी हर तीन महीने पर सैलरी हाइक और प्रमोशन देने की तैयारी कर ली है.

विप्रो के चीफ एक्सीक्यूटिव ऑफिसर एवं मैनेजिंग डाइरेक्टर थिएरी डेलापोर्टे (Wipro CEO Thierry Delaporte) ने जून तिमाही का फाइनेंशियल रिजल्ट (Wipro June Quarter Result) जारी करने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि विप्रो में अब हर कर्मचारियों को तिमाही आधार पर प्रमोशन (Quarterly Promotion) मिलेगा और इसकी शुरुआत जुलाई यानी इसी महीने से हो जाएगी. इसी तरह विप्रो हर तीन महीने पर कर्मचारियों की सैलरी भी बढ़ाने (Quarterly Salary Hike) वाली है. इसका लाभ कर्मचारियों को अगली तिमाही यानी सितंबर से मिलने लगेगा.

डेलापोर्टे ने कहा, ‘हमने टैलेंट में जो इन्वेस्टमेंट किया है, मुझे लगता है उसका परिणाम मिलने लगा है. आपको याद दिला दें कि हमने तिमाही के आधार पर प्रमोशन देने की नीति का ऐलान किसा है, जो काफी नया है. इससे पहले हम भी सालाना साइकल के हिसाब से काम कर रहे थे. तिमाही साइकल के आधार पर प्रमोशन इसी महीने से प्रभावी हो जाएगा, जबकि पात्र कर्मचारियों के लिए सैलरी हाइक सितंबर से लागू हो जाएगा.’

यह भी पढ़ें | अब पशुुओं की ‘सखी’ बनेंगी समूहों की महिलाएं
हायरिंग में टीसीएस, एचसीएल टेक से आगे विप्रो
आपको बता दें कि अप्रैल-जून तिमाही के दौरान विप्रो ने टीसीएस और एचसीएल टेक जैसी कंपनियों से भी ज्यादा हायरिंग की. इस दौरान विप्रो के कर्मचारियों की संख्या 15,446 बढ़ी और 30 जून 2022 तक इनकी संख्या बढ़कर 2,58,574 पर पहुंच गई. इस दौरान कंपनी छोड़कर जाने वाले कर्मचारियों की दर मार्च तिमाही के 23.8 फीसदी से कुछ कम होकर 23.3 फीसदी पर आ गई. डेलापोर्टे ने इस बारे में कहा कि विप्रो छोड़कर जाने वालों की दर में लगातार तीन तिमाही से कमी आ रही है.

प्रॉफिट कम हुआ, पर बढ़ गया राजस्व
विप्रो ने बुधवार को जून तिमाही का रिजल्ट जारी किया. कंपनी को जून तिमाही में टैक्स भरने के बाद 2,563.6 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ, जो साल भर पहले यानी जून 2021 तिमाही के 3,242.6 करोड़ रुपये की तुलना में 20.93 फीसदी कम है. मार्च तिमाही की तुलना में भी प्रॉफिट में 16.96 फीसदी की गिरावट आई. कंपनी का राजस्व जून तिमाही में सालाना आधार पर 15.51 फीसदी बढ़कर 22,001 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. तिमाही आधार पर इसमें 2.98 फीसदी की तेजी आई.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper