उत्तर प्रदेश

आई वी आर आई के कृषि विज्ञान केंद्र बरेली पर हनी बी फार्मर प्रशिक्षण संपन्न

बरेली , 09 सितम्बर। आईवीआरआई के कृषि विज्ञान केंद्र, बरेली द्वारा राष्ट्रीय कृषि कौशल परिषद के अंतर्गत एक माह के हनी बी फार्मर प्रशिक्षण का कल समापन हुआ। यह प्रशिक्षण 8 अगस्त 2023 से प्रारंभ हुआ था। इस प्रशिक्षण में कृषकों को विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा मौनो की विभिन्न प्रजातियां, नए मौनालय तैयार करने की विधि, अधिक शहद उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण बिंदु, कीट बीमारी नियंत्रण, शहद निष्कासन, पैकिंग विपणन के साथ पंतनगर विश्वविद्यालय एवं राजकीय मौन पालन केंद्र ज्योलीकोट, नैनीताल का भी भ्रमण कराया गया। इस प्रशिक्षण में नियमित रूप से प्रशिक्षणार्थियों को प्रैक्टिकल ट्रेनिंग भी दी गई। कल के समापन समारोह में कृषि विज्ञान केंद्र के अध्यक्ष डॉक्टर हंस राम मीणा ने सभी प्रतिभागियों का आवाहन किया कि इस प्रशिक्षण से विभिन्न वैज्ञानिक तकनीकियों का लाभ उठाकर अपना उत्पादन बढ़ाये एवं गुणवंतापूर्ण शहद का अधिक से अधिक उत्पादन कर आय सुनिश्चित करें। प्रसार शिक्षा विभाग के प्रधान वैज्ञानिक डा. आर.एस. सुमन ने सुझाव दिया कि प्रशिक्षण लेने के बाद तुरंत अपनी मौनपालन ईकाइयों को मजबूत कर अच्छा उत्पादन प्राप्त करें व गांव के अन्य युवाओं को भी इससे जोड़ें। जिससे उसे रोजगार प्राप्त हो सके। प्रशिक्षण के संयोजक डॉक्टर रंजीत सिंह ने सभी कृषको से अनुरोध किया कि नियमित रूप से कृषि विज्ञान केंद्र से जुड़े रहें, ताकि भविष्य में किसी प्रकार की समस्या आने पर उसका निराकरण किया जा सके। श्री आर एल सागर, विषय विशेषज्ञ, कृषि विज्ञान केंद्र ने बताया कि मधुमक्खी पालन में खर्चा बहुत कम है और आय बहुत है। साथ ही फसलों के उत्पादन बढ़ाने में भी सहयोगी है इसलिए अन्य कृषक भी इस व्यवसाय को अपनायें। प्रशिक्षण के अंत में सभी प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण सामग्री एवं प्रशस्ति पत्र दिया गया। इस प्रशिक्षण में कुल 25 प्रतिभागियों ने भाग लिया। जिनमें 6 महिलाएं थी। श्री दुर्गा दत्त शर्मा विषय विशेषज्ञ ने सभी अधिकारियों एवं कृषकों को धन्यवाद ज्ञापित किया । बरेली से अखिलेश चन्द्र सक्सेना की रिपोर्ट

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper