इतने हजार में बिक रहा है सिर्फ एक रुपये का नोट, कीमत जानकर चकरा जाएगा आपका सिर

नई दिल्ली. यदि आप पुराने नोट या सिक्के इकट्ठे करना पसंद करते हैं, तो आप उन्हें आय के स्रोत में बदल सकते हैं. साथ ही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पुराने नोटों का कलेक्शन रखना पसंद करते हैं. बहुत से लोग पुराने सिक्कों या नोटों को बड़ी सावधानी से रखते हैं. आपको बता दें कि इन नोटों व सिक्कों की कीमत आसमान छू रही हैं. आइए हम आपको एक ऐसे नोट के बारे में बताते हैं जिसकी कीमत का अंदाजा आसानी से नहीं लगाया जा सकता है. अमूनन लोग सोचते हैं कि एक रुपये के नोट की वैल्यू सिर्फ एक रुपये होगी, लेकिन अगर आपके पास यूनिक नोट है तो उसे हजारों-लाखों में बेचकर मालामाल हो सकते हैं. ऑनलाइन एक वेबसाइट पर एक रुपये के नोट को हजारों की कीमत में बेचा जा रहा है.

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यूनिक नोटों की डिमांड काफी ज्यादा है और लोग ऐसे नोटों को खरीदने के लिए तैयार होते हैं. coinbazzar.com पर एक यूनिक नोट मौजूद है और इस नोट की कीमत 42 हजार रुपये बताई जा रही है. हालांकि, यह नोट अभी 13 हजार रुपये के डिस्काउंट में मिल रही है. इसकी एक्चुअल कीमत 55 हजार रुपये रखी गई थी. कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो ऐसे नोटों को खरीदने के बाद उसे और भी बड़ी कीमत में बेच देते हैं. चलिए जानते हैं कि आखिर इस नोट की कीमत इतनी ज्यादा क्यों है और इसके पीछे की वजह क्या है.

दरअसल, यह नोट करीब 30 साल पुरानी है. इस एक रुपये के नोट का नंबर 786786 है और इसका प्रीफिक्स 56S है. इस पर उस समय के वित्त सचिव एस वेंकिटरमणन के हस्ताक्षर भी हैं. ऐसे फैंसी नंबर के नोटों को खरीदने के लिए कई लोग तैयार होते हैं. हालांकि, जिनके पास ऐसे यूनिक नंबर मौजूद हैं तो वह ऐसे ऑनलाइन वेबसाइट पर अकाउंट बनाकर अपने नोटों की कीमत लगाकर बेच सकते हैं. आपको बता दें कि इन नोटों के अब फैशनेबल नहीं होने के बावजूद इनकी कीमत में काफी इजाफा हुआ है. कई वेबसाइटों पर इन नोटों की नीलामी की जा रही है और अच्छी खासी रकम हासिल की जा रही है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper