उज्जैन में किराना व्यापारी की पत्नी ने बेटियों का गला घोटकर फांसी लगाई

उज्जैन । मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में एक किराना व्यापारी की पत्नी अपनी दो बेटियों की गला घोटने के बाद फांसी पर लटक गई। महिला और उसकी बड़ी बेटी की मौत हो गई जबकि छोटी बेटी की हालत गंभीर है।

यह मामला तराना थाना क्षेत्र का है, यहां के नाचन बोर चौराहे पर सुनील परमार का मकान है और वह सामने ही किराने की दुकान खोले हुए हैं। बुधवार की रात को वह दुकान बंद कर घर पहुंचा तो उसे पत्नी नजर नहीं आई, जब वह पहली मंजिल पर पहुंचा तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई क्योंकि उसकी 28 वर्षीय पत्नी गायत्री पंखे पर लटकी हुई थी और दोनों बेटियां छह साल की हंसिका और ढाई साल की प्रियांशी जमीन पर पड़ी हुई थी।

सुनील ने तुरंत सूचना पुलिस को दी और मौके पर एंबुलेंस पहुंच गई। तीनों को तराना के अस्पताल ले जाया गया जहां गायत्री और उसकी बड़ी बेटी हंसिका को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया, वहीं ढाई साल की प्रियांशी की हालत को देखते हुए उसे उपचार के लिए उज्जैन रेफर कर दिया गया।

पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि एक महिला ने अपनी दो बेटियों का गला घोंटा और फिर खुद फांसी के फंदे पर लटक गई। गायत्री के परिवार के लोग भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर ऐसी क्या वजह थी जिसके चलते उसने यह कदम उठाया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper