एनटीपीसी विंध्याचल में मनाया गया 53वां राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस

विंध्यनगर, एनटीपीसी-विंध्याचल परियोजना के उमंग भवन सभागार में 53वां राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस समारोह धूम-धाम से मनाया गया। हर साल इस दिन को एक थीम के आसपास चिह्नित किया जाता है। इस वर्ष के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस का विषय है – ” ईएसजी उत्कृष्टता के लिए सुरक्षा नेतृत्व पर ध्यान दें”।
सर्वप्रथम सुरक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष श्री आशीष कुमार अग्रवाल द्वारा मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया । इसके पश्चात कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य-अतिथि कार्यकारी निदेशक(विंध्याचल) श्री ई सत्य फणि कुमार एवं विशिष्ट अतिथि असिस्टेंट लेबर कमिश्नर (शहडोल) श्री मनोज कुमार दीक्षित द्वारा दीप-प्रज्वलन करके किया गया। इस अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक(प्रचालन एवं अनुरक्षण) श्री समीर कुमार शर्मा, महाप्रबंधक (मानव संसाधन) श्री प्रबीर कुमार बिस्वास, सहायक कमांडेंट सीआईएसएफ, श्री सदाराम कुशवाहा एवं अन्य महाप्रबंधकगण, अपर महाप्रबंधकगण, विभागाध्यक्ष, यूनियन/एसोसिएशन के पदाधिकारी, सीआईएसएफ-फायर एवं सुरक्षा कर्मचारीगण के साथ-साथ कर्मचारी एवं उनके परिवारजन भी उपस्थित रहे ।
इसके पश्चात विभागाध्यक्ष(सुरक्षा) श्री आशीष कुमार अग्रवाल नें कार्यक्रम के दौरान सभी उपस्थितजनों को प्लांट सुरक्षा के संबंध मे जानकारी दी एवं सुरक्षा उपायों तथा वर्ष भर के दौरान परियोजना के सुरक्षा विभाग की उपलब्धियों से भी अवगत कराया।
परियोजना प्रमुख(विंध्याचल) ने अपने उद्बोधन में कार्य स्थल पर सुरक्षा के महत्व को रेखांकित किया और संयंत्र के सभी कार्यों में सुरक्षा मानदंडों का पालन करने के महत्व पर बल दिया। अपने भाषण में उन्होंने यह भी कहा “हर दिन एक सुरक्षा दिवस है और प्रत्येक कार्यकर्ता एक सुरक्षा अधिकारी है”। साथ ही परियोजना प्रमुख(विंध्याचल) ने ‘राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस’ के अवसर पर उपस्थित सभी कर्मचारियों और संविदाकर्मचारियों को सुरक्षा शपथ दिलाई।
समारोह के विशिष्ट अतिथि श्री मनोज दीक्षित (एएलसी, शहडोल) नें अपने उद्बोधन में एनटीपीसी को भारत का सबसे बड़ा बिजली संयंत्र होने के नाते सुरक्षा के प्रति किए जा रहे सफल प्रयासों की सराहना की। साथ ही सभी कर्मचारियों को ई-श्रम पोर्टल एवं अन्य सेवाओं का लाभ लेने के लिए भी आग्रह किया।
मुख्य महाप्रबंधक(प्रचालन एवं अनुरक्षण) श्री समीर कुमार शर्मा ने भी सुरक्षा संस्कृति विकसित करने के लिए प्रेरित किया, साथ ही महाप्रबंधक(मानव संसाधन)श्री प्रबीर कुमार बिस्वास ने अपने संबोधन में सभी को सुरक्षा के प्रति जागरूक रहने पर जोर दिया।
सुरक्षा पुरस्कार 2024 के तहत विभिन्न विजेताओं को स्मृति चिन्ह और ट्रॉफी से सम्मानित किया गया। जिसके अंतर्गत सुरक्षा के प्रति जागरूक 101 संविदा कर्मियों, 12 विभागों को सेफ़्टी जोन, 08 एजेंसीयों को सुरक्षा ट्रॉफी, 39 कर्मचारियों, 12 सीआईएसएफ फायर विंग प्रतिनिधियों को भी सुरक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। साथ ही सुरक्षा विभाग द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजयी प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया।
एनटीपीसी विंध्याचल में वार्षिक आधार पर विभिन्न अन्य पुरस्कार उन कर्मचारियों और विभागों को प्रदान किए गए जिन्होंने विभिन्न सुरक्षा पहलों में योगदान दिया है और स्टेशन पर सुरक्षा उपायों को बढ़ावा देने के लिए सक्रिय कदम उठाए हैं। इस अवसर पर संयंत्र की सुरक्षा सुनिश्चित करने वाले विभिन्न सीआईएसएफ कर्मचारियों को भी सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम का सफल संचालन सहायक केमिस्ट(रसायन) सुश्री काजल गजानन अंबेडकर एवं सुपर्णा पॉल द्वारा किया गया। सभी ने सुरक्षा पर्व के रूप में इस कार्यक्रम का आनंद लिया।

रवीन्द्र केसरी

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper