एलपीजी सिलेंडर की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर बोला हमला, कही ये बड़ी बात

देशभर में घरेलू एलपीजी सिलेंडर (LPG Price Hike) की कीमतों में इजाफा हुआ है। एलपीजी की कीमतें बढ़ने के बाद विपक्षी दलों को केंद्र सरकार पर हमला बोलने का मौका मिल गया है। इसी मुद्दे पर विपक्षी दल कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने सवाल किया कि क्या यह महाराष्ट्र सरकार को गिराने की कीमत है। बता दें कि एलपीजी की कीमतों में बुधवार को 50 रुपये प्रति सिलेंडर का इजाफा कर दिया गया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को एक ट्वीट कर केंद्र सरकार पर सीधा हमला बोला। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा व उसके पूंजीपति मित्रों के जनता से लूट-लूट कर खाने के दांत कुछ और हैं, दिखाने के कुछ और। कार्यकारिणी बैठक में “गरीब कल्याण” बोलकर पिछले 2-3 दिनों में आटा, अनाज, दही, पनीर पर 5% गब्बर सिंह टैक्स (GST) लगा दिया।’

प्रियंका ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने आज रसोई गैस पर 50 रु और बढ़ा कर गरीब-मध्य वर्ग की कमर तोड़ दी।

भाजपा व उसके पूंजीपति मित्रों के जनता से लूट-लूट कर खाने के दांत कुछ और हैं, दिखाने के कुछ और

कार्यकारिणी बैठक में “गरीब कल्याण” बोलकर पिछले 2-3 दिनों में

आटा, अनाज, दही, पनीर पर 5% गब्बर सिंह टैक्स (GST) लगा दिया

आज रसोई गैस पर 50 रु और बढ़ा कर गरीब-मध्य वर्ग की कमर तोड़ दी

घरेलू गैस की कीमतें 50 रुपये बढ़ी

गौरतलब है कि देशभर में 14.2 किलोग्राम के घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में 50 रुपये प्रति सिलेंडर की वृद्धि हो गई है। दिल्ली में अब घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 1053 रुपये होगी। साथ ही, 5 किलो घरेलू सिलेंडर की कीमत में 18 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, 19 किलो के कमर्शियल सिलेंडर की कीमत में 8.50 रुपये की कमी आई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper