एसआरएमएस रिद्धिमा में थिएटर फेस्ट इंद्रधनुष 2022 का धूमधान से समापन

बरेली: श्री राममूर्ति स्मारक रिद्धिमा में दूसरे थिएटर फेस्टिवल इंद्रधनुष रंग महोत्सव 2022 के अंतिम दिन रविवार को कोलकता के यूनिवर्सल लिटिल थिएटर की ओर से नाटक “हाय हैंडसम” का मंचन किया गया। परिस्थियों पर हास्य बिखेरता यह नाटक परिवार और बुजुर्ग लोगों की समस्या उठाते हुए ट्रेजेडी पर समाप्त होता है। नाटक एक मिलिट्री अफसर कर्नल कपूर की फैमिली की कहानी है, जो विधुर है। उनका एक सीधा साधा बेटा है, जिसने माडलिंग करने वाली एक लड़की मंदा से प्रेम विवाह किया है। मंदा अपने कैरियर पर ध्यान देना चाहती है, लेकिन कर्नल कपूर चाहते है कि वो अपना परिवार संभाले।

मंदा की माँ सीता देवी भी विधवा है। वो भी मंदा की आदतों से परेशान रहती हैं। कपूर साहब और सीता देवी दोनों की हालत एक जैसी है। बच्चों का अपने माँ बाप की तरफ ध्यान नहीं देने से दोनों अकेले हो गए है। सीता और कपूर में एक दूसरे की तकलीफ देखकर सहानुभूति जन्म लेती है। दोनों एक दूसरे की जरूरत को समझ कर शादी कर लेते हैं। दोनों की शादी को बच्चे स्वीकार नहीं करते। सिर्फ घर का नौकर कमाल इसे सही कदम बताता है। कई उतार चढ़ाव के बाद हैप्पी एंडिंग से नाटक का अंत होता है। नाटक का उद्देश्य घर में इग्नोर होते बुजुर्गों की समस्या को उठाना है।

बच्चों की व्यस्तता और उपेक्षा से उनका अकेलापन बढ़ जाता है। नाटक में कर्नल कपूर की भूमिका प्रताप जैसवाल, सीता देवी की भूमिका अलकाइरा हाशमी, स्वामी की भूमिका संजीव राय, मंदा की भूमिका तान्या एनी दास और कमाल खुर्शीद की भूमिका इकराम ने निभाई। थिएटर फेस्टिवल के अंतिम दिन मुख्य अतिथि के रूप में बिथरी विधायक डा.राघवेंद्र शर्मा, शायर वसीम बरेलवी, अपर आयुक्त अरुण कुमार भी एसआरएमएस रिद्धिमा पहुंचे। इस मौके पर एसआरएमएस ट्रस्ट के चेयरमैन देव मूर्ति जी, आदित्य मूर्ति जी, ऋचा मूर्ति जी, गुरु मेहरोत्रा, सुरेश सुंदरानी, डा.एसबी गुप्ता, डा.प्रभाकर गुप्ता, डा.अनुज कुमार, डा.रीटा शर्मा, इंदू परडल, निशांत अग्रवाल सहित शहर के गण्यमान्य लोग मौजूद रहे।

बरेली से ए सी सक्सेना

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper