कार इंश्योरेंस के प्रीमियम पर ऐसे बचा सकते हैं पैसे, ये टिप्स आएंगे आपके काम

नई दिल्ली. अगर आपके पास गाड़ी है और इसका वाहन बीमा या कार इंश्योरेंस करा रखा है तो आपको यहां जानना चाहिए कि कैसे प्रीमियम पर आप पैसे बचा सकते हैं.

अगर आपने एक साल की इंश्योरेंस पॉलिसी में किसी तरह का क्लेम नहीं लिया है तो आपको बाद में No Claim Bonus का लाभ मिल सकता है. पहले साल यह फायदा आपको 20 फीसदी तक का मिलेगा. अगर आप हर साल हर साल 5000 प्रीमियम के रूप में देते है तो No Claim Bonus के रूप में आपको 1000 रुपये तक का फायदा मिलेगा. साल दर साल यह फायदा बढ़ता जाता है.

जो लोग अपनी गाड़ी का इस्तेमाल कभी-कभार करते हैं उनके लिए पे ऐज यू ड्राइव इंश्योरेंस बेहतर ऑप्शन साबित होता है. इससे वे अपने कार इंश्योरेंस के प्रीमियम पर पैसे बचा सकते हैं.

पे ऐज यू ड्राइव इंश्योरेंस पर गाड़ी के इंश्योरेंस का प्रीमियम इस बात पर निर्भर करता है कि वह कितना किलोमीटर चला है. इस इंश्योरेंस का लाभ केवल उन गाड़ियों वाहनों को मिलता है जो 15 हजार किलोमीटर से कम चली हैं.

किसी भी बीमा को खरीदने के बाद उसकी एक्सपायरी डेट को सही तरीके से जांचना बहुत जरूरी है. अगर आप बीमा को सभी समय पर रिन्यू नहीं कराते हैं तो बाद में आपको ज्यादा प्रीमियम देकर उसे रिन्यू कराना होगा. ध्यान रखें कि किसी बीमा के एक्सपायर होने से कम से कम 7 दिन पहले नई पॉलिसी खरीदने के बारे में सोच लें.

कार इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के बाद आप इस बात का भी ध्यान रखें कि बीच-बीच आप छोटे क्लेम लेने से बचें. छोटे-मोटे डैमेज का खर्चा लेने से बाद में आपको No Claim Bonus का लाभ भी नहीं मिलेगा.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper