कैदी के फरार होने के बाद यूपी जेल वार्डर को किया गया निलंबित

प्रयागराज। प्रयागराज के पास नैनी सेंट्रल जेल के जेल वार्डर को शहर के एसआरएन अस्पताल से एक कैदी के भाग जाने के बाद निलंबित कर दिया गया है, जहां उसे इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। नैनी सेंट्रल जेल के वरिष्ठ अधीक्षक पी.एन. पांडे ने कहा कि 33 वर्षीय दीपक पाल, उल्टी और अन्य समस्याओं से पीड़ित था। जेल अस्पताल में डॉक्टरों की सलाह के बाद उसे 18 मई को एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

दीपक को पुराने भवन की तीसरी मंजिल के वार्ड में रखा गया था और वहां दो पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। बताया गया है कि दीपक रविवार को टहलने के बहाने वार्ड से निकला और फिर फरार हो गया। हालांकि डयूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उसका काफी पीछा किया, लेकिन उसे पकड़ नहीं पाए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फरार कैदी को पिछले साल मार्च में सामूहिक दुष्कर्म के एक मामले में गिरफ्तार किया गया था। दीपक का पता लगाने के लिए एसओजी सहित पुलिस की कई टीमों को लगाया गया है। पांडे ने कहा कि जेल वार्डर अर्जुन प्रसाद, जो प्रभारी थे, उन्हें लापरवाही के लिए निलंबित कर दिया गया है। अंचल अधिकारी (सीओ) शाहगंज सत्येंद्र तिवारी ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और फरार कैदी को पकड़ने के प्रयास जारी हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper