गुजरात में भारी बारिश का कहर,1 दिन में 20 इंच बारिश,रेड अलर्ट जारी

अहमदाबाद: दक्षिण और मध्य गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश होने से कुछ नदियों का जलस्तर बढ़ गया और विभिन्न निचले इलाकों में पानी भर गया, जिसके कारण 1,500 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया। मौसम विभाग ने दक्षिण गुजरात के डांग, नवसारी और वलसाड जिलों में अगले पांच दिन में भारी से बहुत भारी बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है। अधिकारियों ने बताया कि छोटा उदयपुर, पंचमहल (दोनों मध्य गुजरात में) और डांग जिले के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई।

छोटा उदयपुर के बोडेली तालुका में रविवार को शाम छह बजे तक सिर्फ 12 घंटे में 433 मिमी बारिश हुई, जिसके कारण उच और हेरान नदियों में जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया और निचले इलाकों में बाढ़ आई गई। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने इन जिलों के कलेक्टरों से बातचीत की और इन इलाकों के लो लाइन एरिया और कच्चे घरों में रहने वाले लोगों को तुरंत सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए कहा। साथ ही भोजन की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए गए। वहीं भारी बारिश को देखते हुए अहमदाबाद नगर निगम ने अपने सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश दे दिया है।

छोटा उदयपुर में हालात बहुत खराब हैं। यहां पुलिस और स्थानीय लोगों ने रेस्क्यु ऑपरेशन चलाकर लोगों को बचाया। कई महिलाओं और बच्चों को कंधे पर उठाकर सुरक्षित पहुंचाया गया। इस बीच, भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने अगले 7 दिन के लिए अलर्ट जारी किया है। इस दौरान दक्षिण गुजरात, मध्य गुजरात और सौराष्ट्र में भारी बारिश हो सकती है।

कई जिलों में भारी वर्षा, 1,500 लोगों को सुरक्षित निकाला गया

दक्षिण और मध्य गुजरात के कई जिलों में भारी वर्षा हुई है, जिससे नदियां उफान पर हैं। निचले इलाकों में पानी भर गया है। बढ़ते खतरे को देखते हुए लगभग 1,500 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। मौसम विभाग ने डांग, नवसारी और वलसाड जिलों में अगले पांच दिनों में भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है। छोटा उदेपुर में रविवार को शाम छह बजे तक सिर्फ 12 घंटों में 433 मिमी वर्षा हुई। इससे निचले इलाकों में बाढ़ आ गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper