‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ ने भड़काई थी रांची में हिंसा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

रांची: झारखंड की राजधानी रांची में पिछले शुक्रवार को फैली हिंसा मामले में पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। खबर के अनुसार, इस हिंसा का मास्टरमाइंड व्हाट्सएप ग्रुप का एडमिन नवाब चिश्ती निकला। नवाब चिश्ती को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नवाब चिश्ती पर पहले भी कई स्थानों पर हिंसा फैलाने का आरोप है। नवाब सियासत में भी बहुत सक्रिय रहता है। कई दलों के नेताओं के साथ उसकी फोटो देखी गई है।

वही पुलिस की तहकीकात में पता चला है कि हिंसा वाले दिन ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ व्हाट्सएप ग्रुप से ही सबसे ज्यादा मैसेज किया गया था। युवाओं को झांसा देकर उकसाया गया। ग्रुप में अपराधी नवाब ने लोगों से प्रदर्शन में सम्मिलित होने की अपील की थी। पुलिस को यह भी पता चला है कि नवाब ही इस ग्रुप का एडमिन है। इससे पहले नवाब हिंसा भड़काने के इल्जाम में 2 बार जेल भी जा चुका है।

वहीं पुलिस की तहकीकात के चलते इस ग्रुप के सारे मैसेज चैट पढ़े गए जिसमें यह पाया गया कि रांची हिंसा को उग्र रूप देने के लिए इस ग्रुप का उपयोग किया गया था। तत्पश्चात, पुलिस ने अपराधी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। कहा जा रहा है कि नवाब पहले भी दंगा भड़काने के इल्जाम में दो बार जेल जा चुका है। पुलिस ने बताया कि रांची हिंसा को भड़काने में गैंग्स ऑफ वासेपुर व्हाट्सएप ग्रुप का अहम किरदार रहा है। रांची हिंसा मामले में अब तक 29 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं इससे पहले मंगलवार को 6 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई थी। रांची के पुलिस अधीक्षक अंशुमान कुमार ने कहा कि गिरफ्तार किए गए सभी 6 व्यक्तियों को मामले में अपराधी बनाया गया है। इन अपराधियों को रांची के तमाम भागों से कोतवाली थाने लाया गया है तथा पूछताछ जारी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper