घडी भी डाल सकती है जीवन में नकारात्मक प्रभाव

हमारे जीवन में घडी का बहुत महत्व होता है.घडी ही हमें समय का निर्देश देती है.दीवार पर लगी घड़ी हमें जीवन में सफलता और असफलता के रास्ते पर ले जाती है.पर अपने घर में घडी को लगते वक़्त कुछ बातो का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी होता है.

1-अपने घर की दक्षिण दिशा की ओर कभी भी घडी को नहीं लगाना चाहिए.इस दिशा में लगी घड़ी आपकी सफलता के रास्ते की रूकावट बन सकती है. आप घडी को पश्चिम दिशा में लगा सकते हैं, अगर आप अपने घर की दक्षिण दिशा की ओर घड़ी लगाते हैं तो आप हर वक़्त टाइम देखने के लिए दक्षिण दिशा की ओर देखेंगे. और दक्षिण दिशा से आने वाली नकारात्मक ऊर्जा से आपके कार्य में निरंतर परेशानी आती रहेगी.

2-घड़ी घर की उत्तर या पूर्व की दीवार पर ही लगाना चाहिए.

3-घडी को हमेशा सबकी नज़रो के सामने ही लगाना चाहिए. जहां से वह सभी को आसानी से दिखाई दे सकें.

4-घर में लगी गन्दी घडी नकारात्मक ऊर्जा को बुलावा देती है. इसलिए नियमित रूप से घडी की साफ-सफाई करते रहें, उस पर धूल जमा न होने दें.

5-अगर आपके घर में म्यूजिकल टोन वाली घडी लगी है तो उसे हमेशा अपने घर के ब्रह्मस्थान स्थित लॉबी में लगाएं. इससे आपको बहुत फायदे होंगे.

6-कभी भी टूटी हुई घडी को अपने घर में ना लगाए.ऐसी घड़ी घर में रखने से इसका परिवार के सदस्यों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper