चोरी करते पकड़ी गई है आपकी मम्मी, घर में रखे सारे पैसे और गहने दे दो, अकेले रहने वाले बच्चों को इस तरह ठग रहा एक गैंग

गुरुग्राम: घरों में बच्चों को अकेले छोड़कर जाने वाले मां-बाप सावधान हो जाएं। इन दिनों गुरुग्राम में एक ऐसा गैंग सक्रिय हो गया है जो घरों में अकेले रहने वाले बच्चों को झूठ बोलकर उनसे घर में रखे गहने और नगदी लूटकर फरार हो जाता है। यह गैंग बच्चों को उनकी मम्मी-पापा के मुसीबत में होने की बात कहकर उन्हें डराने के बाद कीमती सामान लूटकर ले जाता है। एक घर के बाहर से मिली सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस आरोपी की पहचान करने के प्रयास में जुटी है।

दरअसल, हाल ही में गुरुग्राम के एक घर में बच्चों को अकेले देखकर जालसाज ने उन्हें झांसे में लेकर घर से ज्वेलरी और नकदी उड़ा ली। घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में युवक की फुटेज मिली है। जालसाज ने एक साथ दो मकानों में इस तरह की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने शनिवार को सेक्टर-5 थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के इटावा निवासी शिव कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि वह परिवार के साथ अशोक विहार फेज-एक में रहते हैं। शुक्रवार को वह और उनकी पत्नी ऑफिस गए थे और घर पर बेटा अकेला था। दोपहर में एक युवक आया और बेटे से बोला कि उसकी मां को चोरी करते हुए पकड़ लिया है और कुछ लोग यहां पर आने वाले है, इसलिए घर पर जो भी है फटाफट उसको निकाल कर दे दो। बेटा उसकी बातों में आ गया और घर की आलमारी में रखे लाखों रुपये के जेवरात और 30 हजार नकद उसे दे दिए।

इसके बाद वह जालसाज उनके पड़ोसी दलीप के घर से भी उनके बेटे को बहलाकर 20 हजार रुपये नकद और जेवरात लेकर फरार हो गया। घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में आरोपी की फुटेज कैद हो गई है, जिसमें वह युवक सफेद शर्ट, सिर पर टोपी और निली जींस पहने हुए दिख रहा है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी की पहचान करने के प्रयास में जुटी है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper