जानिए हल्के लक्षण खांसी, बुखार और थकान के आयुर्वेदिक देसी इलाज

कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए टीकाकरण का दूसरा चरण जारी है! बुखार, खांसी और थकान अभी भी कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े सबसे आम लक्षण हैं, घर पर रहते हुए लोग अपना इम्यून सिस्टम मजबूत करने और जल्द रिकवरी के लिए कुछ कर सकते हैं! गंभीर पेचीदगी वाले लोगों को जरूर विशेषज्ञ की निगरानी में रखा जाना चाहिए, जबकि क्वारंटाइन में रहते हुए मामूली लक्षण वालों का इलाज कुछ आसान दवा के साथ किया जा सकता है!

आयुर्वेद की विशेषज्ञ डॉक्टर रेखा राधामोनी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कोविड-19 के मामूली लक्षणों का इलाज करने के लिए आयुर्वेदिक प्रोटोकॉल शेयर किया है!

हाइड्रेशन

डॉक्टर रेखा का सुझाव है कि सूखा अदरक और तुलसी की पत्ती के साथ गर्म पानी का इस्तेमाल! इस आसान मिश्रण को बनाने के लिए थोड़ा पानी को सूखे अदरक के एक टुकड़े के साथ मात्रा में आधा होने तक उबालें! उसके बाद तुलसी की पत्ती को मिलाकर एक दिन में कई बार पीएं!

फूड

ताजा पकाया हुआ और गर्म भोजन खाएं! चावल का मांड़ या मूंग की दाल का सूप बिना नमक या तेल के अपने लंच या डिनर में सुनिश्चित करें! ज्यादा खाने से परहेज करें बल्कि हर भोजन के बाद पेट को आधा खाली छोड़ें! रात का भोजन 7 बजे से पहले खाने को सुनिश्चित करें!

मसाले

हम सभी जानते हैं कि भारतीय मसालों में राहत पहुंचाने की शक्ति है! दालचीनी, काली मिर्च, इलायची, चक्र फूल और लौंग को अपने भोजन में शामिल करें! सूखी हल्दी और सूखा अदरक भी खाने में जोड़ें!

फल

अगर आप एसिम्पटोमैटिक हैं, तब फल जैसे अनार और अंगूर का सेवन करें! अगर आपको कोरोना वायरस का लक्षण है, तब फल खाने से पूरी तरह बचें!

सब्जियां

अच्छी तरह से पकी सब्जियों का इस्तेमाल करें, कच्ची सब्जी या सलाद न खाएं! कड़वी सब्जी जैसे करेला को खाना सुनिश्चित करें! बैगन, टमाटर और आलू का सेवन कम करें!

व्यायाम

अगर आपको लक्षण है और थकावट महसूस कर रहे हैं, तब किसी तरह की शारीरिक गतिविधि न करें! मात्र 30 मिनट के लिए प्राणायाम करें!

जड़ी-बूटी

अगर आपको खांसी है, तब एक चम्मच शहद को काली मिर्च पाउडर के साथ एक दिन में तीन से चार बार पीएं! गले में दर्द होने पर गर्म पानी से कुल्ला करें!

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper