तहसीलदार के घर ईडी का छापा, 6 बिल्डिंग, 21 प्लॉट, कई गाड़ियां सहित करोड़ों की संपत्ति ज़ब्त

भुवनेश्वर: ओडिशा में विजिलेंस डिपार्टमेंट को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. ओडिशा विजिलेंस ने बुधवार को जब सुंदरगढ़ जिले में एक एडिशनल तहसीलदार के घर छापा मारा तो तहसीलदार की करोड़ों रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ. अतिरिक्त तहसीलदार कुलमणि पटेल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में छापेमारी की गई थी. अतिरिक्त तहसीलदार कुलमणि पटेल के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप लगने के बाद 6 इमारतों और 21 प्लॉट सहित करोड़ों की संपत्ति का पता चला.

तहसीलदार कुलमणि पटेल के यहां छापेमारी करने के बाद स्टेट विजिलेंस को अभी तक 2 भवन, 4 मकान, 21 प्लॉट, 2 ट्रैक्टर और 5 वाहन मिले हैं. मीडिया रिपोर्ट की मानें तो 4 डीएसपी, 10 इंस्पेक्टर, चार एएसआई और अन्य कर्मचारियों के नेतृत्व में आठ टीमों ने बुधवार को सुंदरगढ़ जिले में तंगरापल्ली के अतिरिक्त तहसीलदार कुलमणि पटेल की संपत्तियों पर छापेमारी की.

एक अधिकारी ने बताया कि छापेमारी के दौरान विजिलेंस डिपार्टमेंट के अफसरों को लेफ्रिपाड़ा में एक करोड़ रुपये की तीन मंजिला आवासीय इमारत और चिताभंगा में 46.29 लाख रुपये की दो मंजिला इमारत मिली. इतना ही नहीं, डुमरबहल में भी 3 आवासीय परिसरों और सुंदरगढ़ जिले के प्रमुख क्षेत्र में 21 प्लॉटों का भी सतर्कता अधिकारियों ने पता लगाया है.

अधिकारी ने बताया कि तकनीकी शाखा इन इमारतों और भूखंडों की विस्तृत माप कर रही है. ओडिशा सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने पटेल के 14.48 लाख रुपये मूल्य के 3 चार पहिया वाहन, दो ट्रैक्टर और 14 लाख रुपये मूल्य के दो ट्रेलर का भी पता लगाया है. छापेमारी के दौरान अतिरिक्त तहसीलदार के 7.81 लाख रुपये मूल्य के सोने और चांदी के आभूषणों के साथ 37.68 लाख रुपये की बैंक और बीमा जमा राशि भी जब्त की गई.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper