थका हुआ महसूस करने से बढ़ सकता है ब्लड प्रेशर, हाई बीपी के इन चेतावनी संकेतों पर दें ध्यान

 


नई दिल्ली. ब्लड प्रेशर का मतलब उस दबाव से है, जिस पर आपका खून धमनियों, नसों और ब्लड वेसेल्स के माध्यम से बहता है. यदि आपका ब्लड प्रेशर ज्यादा है, तो आपको दिल की बीमारी और यहां तक कि समय से पहले मौत का खतरा बढ़ा देता है. हाई बीपी के कई सामान्य कारण हैं, जैसे उम्र, बहुत अधिक नमक खाना, पर्याप्त व्यायाम न करना आदि. हालांकि, एक और महत्वपूर्ण संकेत है- बर्नआउट (थका हुआ महसूस करना), जिसमें शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से शामिल हो सकती हैं.

बर्नआउट शारीरिक और भावनात्मक थकावट की स्थिति है. यह तब हो सकता है, जब आप अपनी नौकरी में लंबे समय तक तनाव का अनुभव करते हैं या जब आपने लंबे समय तक शारीरिक या भावनात्मक रूप से काम करने की भूमिका निभाई हो.

लंबे समय तक तनाव आपके ब्लड को बढ़ा सकता है. जब कोई तनाव महसूस कर रहा होता है, तो उसका शरीर कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन जैसे हार्मोन रिलीज करता है. ये हार्मोन किसी के हार्ट रेट (दिल की गति) को बढ़ा सकता है और उनकी ब्लड वेसेल्स को भी संकुचित कर सकते हैं, जिससे उनका ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है. कई अध्ययनों से पता चला है कि लंबे समय तक कोर्टिसोल का हाई लेवल शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है.

ज्यादातर समय थकान महसूस होना
असहाय, फंसा हुआ या हारा हुआ महसूस करना
अलग या अकेला महसूस करना
कामों को पूरा करने में टालमटोल करना और अधिक समय लेना
अपने ऊपर संदेह करना
नकारात्मक दृष्टिकोण रखना

बर्नआउट एक मानसिक स्वास्थ्य स्थिति है, जिसे नजरअंदाज और खारिज नहीं किया जाना चाहिए. नीचे बताए गए कुछ उपाय तनाव कम करने में मदद कर सकता है.

व्यायाम
स्वस्थ भोजन करना
शराब और कैफीन का सेवन कम करें
योग व ध्यान करने या गहरी सांस लेना
गाने सुनना

बर्नआउट को कम करने से आपके ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद मिलेगी. यदि आपको सहायता की आवश्यकता है, तो अपने चिकित्सक से परामर्श करने में संकोच न करें. किसी पेशेवर के साथ बात करने से आपके लक्षणों में सुधार हो सकता है और आपको बेहतर महसूस करने में मदद मिल सकती है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper