दिल्ली के अस्पताल में झगड़ा, आपातकालीन सेवाएं कुछ देर के लिए बाधित

नई दिल्ली । एक ईसीजी परीक्षण को अनुचित तरीके से किए जाने को लेकर हुए झगड़े के बाद राष्ट्रीय राजधानी के एक अस्पताल में आपातकालीन सेवाओं को कुछ समय के लिए बाधित कर दिया गया था। एक अधिकारी ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी है। अधिकारी के अनुसार मदन मोहन मालवीय अस्पताल में झगड़े को लेकर गुरुवार को मालवीय नगर थाने में पीसीआर कॉल आई जिसके बाद पुलिस टीम तुरंत मौके पर पहुंची।

पुलिस जब उक्त अस्पताल पहुंची तो फोन करने वाले पंचशील विहार की एक महिला ने कहा कि ईसीजी कराने को लेकर विवाद हुआ था। पुलिस उपायुक्त बनिता मैरी जैकर ने कहा, “उसने कहा कि उसे दिन के समय बिजली का झटका लगा और वह इलाज के लिए अस्पताल आई। डॉक्टर ने उसे ईसीजी टेस्ट कराने की सलाह दी। जब ईसीजी किया जा रहा था तब पुरुष नर्स ने उसे अपने छाती के पास का कपड़ा हटाने के लिए कहा। उसने इसे गलत समझा और गुस्सा हो गई।”

इसी दौरान महिला अपने पति के साथ चिल्लाने लगी और अन्य मरीज भी जमा हो गए। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “आपातकालीन सेवाओं को बाधित करने और बंद करने के संबंध में एक पीसीआर कॉल की गई थी।” तब आक्रोशित महिला ने पुलिस को बताया कि वह सुबह लिखित शिकायत देगी और वहां से चली गई। अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने भी पुष्टि की है कि विवाद ईसीजी को लेकर था।

अधिकारी ने कहा, “आपातकालीन सेवाएं सुचारू रूप से चल रही हैं। कोई शिकायत मिलने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper