दीपावली के दिन कर लें वास्‍तु से जुड़े ये अचूक उपाय, कभी नहीं होगी पेसौं की कमी

नई दिल्ली । दीपावली भारत (India) का सबसे प्रसिद्ध धार्मिक-सांस्कृतिक त्योहार है। प्रकाश का पर्व दिवाली (Diwali ) मां लक्ष्मी को आमंत्रित करने का पर्व है। धन-वैभव, ऐश्वर्य और सौभाग्य (opulence and fortune) की कामना से महालक्ष्मीजी के स्वागत में घरों और व्यापारिक संस्थानों की साफ-सफाई,रंग-रोगन के उपरांत खूब सजाया जाता हैं। वास्तु शास्त्र में सुख-समृद्धि (happiness and prosperity), धन-धान्य की बढ़ोतरी के लिए अनेकों नियम और उपाय बताए गए हैं। दीपावली की सजावट में यदि वास्तु नियमों के अनुसार दिशाओं और रंगों को ध्यान में रखकर सजावट की जाए तो निश्चित रूप से हमें शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। खुशियां, सफलता और समृद्धि (success and prosperity) हमारे जीवन में दस्तक देंगी।

द्वार सजा लें
घर का मुख्य द्वार जहां से लक्ष्मी और सौभाग्य (Lakshmi and good fortune) का प्रवेश घर के अंदर होता है। इसलिए उसका सुंदर,स्वच्छ होना,उस पर किसी शुभ चिन्ह जैसे स्वास्तिक,शुभ-लाभ या गणेशजी (Ganesh Ji) आदि का बना होना अत्यंत लाभप्रद माना गया है। त्योहार के दिनों में घर के मुख्य द्वार के ऊपर आम,अशोक के ताजे हरे पत्तों या फूलों की बंधनवार बांधना शुभ और समृद्धिकारक माना गया है।

जल से भरा पात्र रख लें
वास्तु के अनुसार ईशान कोण (उत्तर-पूर्व) जल व ईश्वर का स्थान माना गया है और यहां सर्वाधिक सकारात्मक ऊर्जा रहती है। इस दिशा को साफ-सुथरा रखने एवं यहां जल का पात्र रखने से सौभाग्य (Good luck) में वृद्धि होती है,परिवार के सदस्यों की सेहत ठीक रहती है। दीपावली (Diwali) की सजावट में यहां आप जल से भरा मिट्टी का कटोरा जिसमें फूलों की पंखुड़ियां डालकर भी आप रख सकते हैं।

रंगोली
दिवाली के मौके पर शुभता का प्रतीक रंगोली और मांडने (Rangoli and Mandane) बनाए जाते हैं,लक्ष्मीजी के स्वागत में गेरू और सफेद खड़िया से बनाए गए मांडने समृद्धि के आगमन के घोतक हैं। रंगोली बनाने से जीवन में खुशियां आती हैं और ईश्वर का आशीर्वाद मिलता है।

ऐसे जलाएं दीये
दीपावली की पूजा में घी या तेल के दीपक जलाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा दूर होकर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है,घर के सदस्यों को यश और प्रसिद्धि मिलती है। दीप ज्योति से समस्त पाप नष्ट होकर जीवन में सुख-समृद्धि,आयु,आरोग्य एवं सुखमय जीवन में वृद्धि होती। दीपावली के दिन लक्ष्मीजी की पूजा के दीपक उत्तर दिशा में रखने से घर धन-धान्य से संपन्न रहता है।

कुबेर से बढ़ेगा धन
धन के देवता कुबेर को आसुरी शक्तियों का हरण करने वाला और धन देने वाला देवता माना गया है। अपने घर में पूंजी के सही प्रवाह अथवा अपने करियर में नए अवसर पैदा करने के लिए भवन के उत्तर दिशा में कुबेरजी की मूर्ति रखें।

दीपावली पर यह भी करें
बचत को ज्यादा करने व व्यापार में नए अवसर पाने के लिए दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम दिशा में पीले फूलों का गुलदस्ता,करियर में नए मौकों के लिए उत्तर में हरे पौधे,धन आगमन के दिशा क्षेत्र दक्षिण-पूर्व में लाल घोड़ों का जोड़ा और सफलता पाने के लिए पश्चिम दिशा में गांव का एक चित्र लगाएं।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सिर्फ सामान्‍य सूचना के लिए हैं, हम इन पर किसी भी प्रकार का दावा नहीं करते हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper