Top Newsदेशराज्य

देशभर में चल रही The Kerala Story, आपको क्या परेशानी; ममता सरकार से CJI

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने द केरल स्टोरी पर बैन के मामले में बंगाल और तमिलनाडु सरकारों से जवाब मांगा है। कोर्ट ने सवाल किया कि फिल्म देश के दूसरे हिस्सों में चल रही है तो पश्चिम बंगाल में यह बैन क्यों होनी चाहिए। मामले की सुनवाई अगले बुधवार तक टाल दी गई है। बता दें कि फिल्म 5 मई को रिलीज हुई थी। इसके बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने मूवी पर बैन लगा दिया था। साथ ही तमिलनाडु के थिएटर मालिकों ने भी स्क्रीनिंग रोक रखी थी। इस बैन के खिलाफ फिल्म प्रोड्यूसर्स ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दी थी। सुनवाई जल्दी कर ली जाए इसके लिए सनशाइन पिक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से अधिवक्ता हरीश साल्वे ने कहा था कि हर दिन के साथ निर्माताओं को नुकसान हो रहा है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस पीएस नरसिम्हा की बेंच ने दोनों राज्यों की सरकारों को नोटिस जारी किया है।

ये बोली थीं ममता बनर्जी
द केरल स्टोरी का टीजर आने के बाद से ही फिल्म विवादों में आ गई थी। धर्मांतरण पर बनी इस फिल्म को लेकर मेकर्स का दावा है कि मूवी सच्ची घटनाओं पर आधारित है। वहीं ममता बनर्जी ने इसे प्रोपागैंडा फिल्म बताया था। उन्होंने कहा था, इन लोगों ने द कश्मीर फाइल्स क्यों बनाई? एक सेक्शन को अपमानित करने के लिए… केरल स्टोरी क्या है? अगर कश्मीर के लोगों की निंदा करने के लिए द कश्मीर फाइल्स बना सकते हैं…अब केरल के बदनाम कर रहे हैं। आगे चलकर बंगाल फाइल्स बना देंगे। पश्चिम बंगाल सरकार ने फिल्म की स्क्रीनिंग पर बैन लगा दिया था। वहीं तमिलनाडु में फिल्म की स्क्रीनिंग रोक रखी थी। थिएटर्स मालिकों की दलील थी कि इससे माहौल बिगड़ सकता है। इसके बाद प्रोड्यूसर विपुल शाह ने सुप्रीम कोर्ट ने इस बैन के खिलाफ याचिका दी थी।

बॉक्स ऑफिस पर फिल्म ब्लॉकबस्टर
द केरल स्टोरी फिल्म बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है। मूवी अब तक 80 करोड़ के करीब कमा चुकी है। मूवी का बजट 15 करोड़ के आसपास बताया जा रहा है, इस लिहाज से यह ब्लॉकबस्टर साबित हो चुकी है। फिल्म में अदा शर्मा शालिनी उन्नीकृष्णन के रोल में हैं। उनकी एक्टिंग को भी सराहा जा रहा है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper